वायरल खुलासा 09: रामदेव की कंपनी का चिकेन मसाला बेचने का सच

सोशल मीडिया एक काल्पनिक संसार है. यहां आधी हकीकत और आधा फसाना है. यहां जो दिखता है वह सच नहीं होता. इसलिए हम ढूंढते हैं सोशल मीडिया पर वायरल होने वाली हर खबरों का सच और झूठ.

धड़ल्ले से एक खबर सोशल मीडिया पर वायरल हो रही है बाबा रामदेव की कपंनी पतंजली का चिकेन मसाला. देश को शाकाहारी बनाने का जिम्मा उठाए रामदेव की कंपनी क्या वाकई में चिकेन मसाला बनाती और बेचती है ? इस खबर के वायरल होने के साथ हीं रामदेव के खिलाफ कमेंट्स की भरमार हो चुकी है. लोग तेजी से इस खबर को शेयर और पोस्ट कर रहे हैं. पर इस खबर का सच क्या है ?

इस खबर की पड़ताल करते करते हम पहुंच गए लल्लनटाॅप पर. वहां से जो जानकारी हासिल हुई है, वह इस प्रकार है.

एक वेबसाइट है पतंजली फूड्स. इस वेबसाइट और कंपनी के मालिक हैं जगजीत धमी, जो कोलंबिया के रहने वाले हैं. 18 जुलाई 2015 को रजिस्टर्ड यह कंपनी यूएसए और कैनेडा में अपने फूड प्रोडक्ट्स सप्लाई करने वाली यह कंपनी पतंजली के नाम पर हीं अपना चिकेन मसाला बेच रही है. इसकी कीमत 1.99 डाॅलर यानी 129 रुपये है. इसका लोगो भी रामदेव की पतंजली के लोगो के साथ मिलता जुलता है. यानी की चिकेन मसाला बेचने वाली कंपनी जगजीत की कंपनी है और शाकाहार के लिए प्रेरित करने वाली पतंजली रामदेव की कंपनी है. जगजीत की पतंजली चिकेन मसाला बेच रही है न कि रामदेव की पतंजली.

इन तथ्यों से पता चलता है कि रामदेव की पतंजली चिकेन मसाले का कारोबार नहीं करती, इसलिए यह खबर भ्रामक और झूठ है.
वहीं रामदेव की पतंजली ने इस बारे में एक प्रेस नोट भी रिलीज कर कहा है कि हम चिकेन मसाला जैसी किसी भी चीज का व्यापार नहीं करते हैं और यह खबर पूरी तरह से झूठ है. रामदेव की पतंजली जगजीत की पतंजली के खिलाफ लीगल एक्शन लेने पर भी विचार कर रही है.

Rate this post
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here