जानिए, 5 फीट जमीन पर कैसे बना है 5 मंंजिला मकान

0
765

बिहार के मुजफ्फरपुर में एक घर लोगों के बीच चर्चा का विषय बना हुआ है. मुजफ्फरपुर के गन्नीपुर इलाके में पांच फीट चौड़ा पांच मंजिला मकान को लोग दूर-दूर से देखने के लिए आ रहे है. इस मकान को कोई मुजफ्फरपुर का एफिल टावर तो कोई इसे अजूबा आदमी द्वारा बनाया गया अजूबा घर कह रहे हैं. लोग यहां आकर इस मकान के साथ तस्वीरें खींचकर ले जा रहे हैं.

इस मकान की खाश बात यह है कि इस पांच मंजिला मकान का आगे का आधा हिस्सा सीढ़ियों से बना है जबकि दूसरे हिस्से में घर बना हुआ है. इस घर को शादी के यादगार के तौर पर बनाया गया था. इस मकान को पिछले दो सालों से व्यवसायिक इस्तेमाल के लिए शुरु किया गया है. मकान के आसपास के लोगों का कहना है कि अब यह घर काफी लोकप्रिय हो चुका है.

2012 में नगर निगम के द्वारा नक्शा पास करा लिया गया उसके बाद 2015 में यह भवन बनकर तैयार हुआ. मकान बनते ही लोग इस मुजफ्फरपुर का एफिल टावर तो कई लोग अजूबा घर कहने लगे. इसके आस-पास कोई मकान नहीं होने के कारण यह और भी आकर्षक दिखता है.
इस मकान के मालिक संतोष और अर्चना ने शादी के बाद पांच फीट चौड़ी और 45 फीट लंबा भूखंड खरीदा था. लेकिन जमीन की चौड़ाई महज पांच फीट होने के कारण कई सालों तक इसमें घर नहीं बनाया गया. लोगों ने जमीन बेचने की भी सलाह दी लेकिन शादी की यादगार वाल इस भूखंड पर दोनों ने मकान बनाने की ठानी और खुद मकान का नक्शा लेकर निगम इंजीनियर के पास गए और नक्शा पास करवाया.

इस 5 मंजिला मकान का आगे का आधा हिस्सा सीढ़ियों से बना है जबकि दूसरे हिस्से में घर बना हुआ है. मकान का आधा हिस्सा जो करीब 20 फीट लंबाई और 5 फीट चौड़ाई वाला है, उसी में एक कमरे का फ्लैट बनाया गया है जिसमें शौचालय से लेकर किचेन तक बनाया गया है. किचेन और शौचालय ढ़ाई गुणा साढ़े तीन फीट का है. कमरे की लंबाई 11 फीट और 5 फीट चौड़ी है. कुल मिलाकर एक बैचलर के लिए ऊपर के 4 फ्लैट तैयार किए गए हैं. जबकि निचले तल्ले को हॉलनुमा आकार देकर ऊपर के तल्ले पर जाने के लिए सीढ़ी बनाया गया है. मुख्य सड़क से मकान बिल्कुल अपने आकार में साफ-साफ दिखाई पड़ता है. इसकी वजह है कि मकान के अगल-बगल कोई बड़ा भवन नहीं बना है. लोगों के लिए खास बन चुके इस अजूबे भवन को देखने और समझने के लिए लोग रोजाना आ रहे हैं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here