बिहार में कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए 15 दिन में बनेगा 500 बेड का कोरोना अस्पताल

0
207

बिहार में कोरोना संक्रमण के मामलों में तेजी से इजाफा हो रहा है. प्रतिदिन कोरना के 1000 से अधिक मरीजों की पुष्टि हो रही है. बिहार की राजधानी पटना में कोरोना के सबसे ज्यादा संक्रमित मरीजों की संख्या है. राजधानी पटना में बीते दो दिनों में 500 से ज्यादा संक्रमित मरीजों की पुष्टि हो रही है. कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए यह निर्णय लिया गया है कि 15 दिनों में 500 बेट का अस्पताल बनकर तैयार हो जाएगा. रविवार को रक्षा अनुसंधान एवं विकास संगठन (DRDO) की एक उच्चस्तरीय टीम ने वेटनरी कॉलेज परिसर व बिहटा का निरीक्षण किया.

पटना के जिलाधिकारी कुमार रवि ने कहा है कि जगह चयनित होने के बाद 15 दिनों के अंदर सेना 500 बेड का अस्पताल बनाकर तैयार कर देगी. डीएम ने बताया कि डीआरडीओ की दो सदस्यीय टीम ने पहले वेटनरी कॉलेज का मुआयना किया. इसके बाद बिहटा में भी अस्पताल के लिए दो जगहों का निरीक्षण किया. डीआरडीओ की टीम की मुहर लगते ही अस्पताल के लिए जगह उपलब्ध करा दी जाएगी. यह अस्थायी अस्पताल मुख्य रूप से कोरोना मरीजों के लिए बनाया जाएगा, लेकिन इसमें उपचार की तमाम सुविधाएं होंगी.

आपको बता दें कि बिहार में कोरना संक्रमण का मामला तेजी से बढ़ रहा है. कोरोना के सबसे ज्यादा मरीजों की पुष्टि राजधानी पटना में हुई है. रविवार को पटना के एम्स अस्पताल में नवजात की भी कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आई है. ऐसे में जिला प्रशासन हर हर संभव करोना संक्रमण को रोकना चाह रहा है. इसी कड़ी में अब कोरोना के अस्थाई अस्पताल बनाने की बात कही जा रही है. इसीलिए डीआरडीओ यहां पहल कर रहा है। टीम ने मुजफ्फरपुर का भी दौरा किया। अधिकारियों का कहना है कि वहां भी एक अस्पताल बनाने का प्रस्ताव है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here