66 वीं BPSC संयुक्त परीक्षा का रिजल्ट जारी, वैशाली के सुधीर बने टॉपर

0
611

बिहार लोक सेवा आयोग ने बुधवार को 66 वीं संयुक्त प्रवेश परीक्षा का फ़ाइनल रिजल्ट जारी कर दिया. कुल 689 पदों में 685 अभ्यर्थी सफल हुए हैं. बता दें कि 66 वीं BPSC परीक्षा के टॉपर वैशाली जिले के सुधीर कुमार बने. उन्होंने रैंक वन हासिल किया. वहीँ अरवल के अमर्त्‍य कुमार आदर्श दूसरे और मुजफ्फरपुर के आयुष कुमार तीसरे स्‍थान पर आए हैं. टॉप टेन में एक महिला अभ्यर्थी मोनिका श्रीवास्तव ने जगह पाई है. उम्मीदवार अपना फाइनल रिजल्ट BPSC की आधिकारिक वेबसाइट www.bpsc.nic.in पर जाकर चेक कर सकते हैं.

बताते चलें कि 66th संयुक्त परीक्षा के लिए प्री एक्जाम साल 2020 में ही हुआ था, जबकि मेंस परीक्षा 2021 में संपन्न हुयी. वहीँ 13 अप्रैल 2022 को मुख्‍य परीक्षा का परिणाम घोषित किया गया जिसमें कुल 1838 अभ्‍यर्थी सफल हुए थे. इसके बाद इनका साक्षात्‍कार इसी साल 18 मई से 22 जून तक और पांच जुलाई से 18 जुलाई तक हुआ था. साक्षात्‍कार में 1768 अभ्‍यर्थी शामिल हुए. इसमें 70 अनुपस्थित रहे थे. वहीँ अब फाइनल में कुल 685 उम्मीदवारों का चयन हुआ है. हालांकि बता दें कि कुल सीट 689 थी, मगर 4 सीटें मूक बधिर अभ्यर्थियों के नहीं मिलने के कारण खाली रह गई. बताते चलें कि 25 दिव्‍यांग और 13 स्‍वतंत्रता सेनानियों के आश्रित अभ्यर्थियों ने भी सफलता पाई है.

टॉपर सुधीर कुमार ने बताया सफल होने का राज़

बीपीएससी 66वीं में रैंक वन लाने वाले वैशाली जिले के महुआ निवासी सुधीर कुमार ने कहा कि शार्टकट से सफलता नहीं मिलती. केवल सामान्य ज्ञान वाले किताबों के भरोसे नहीं रहना चाहिए, क्योंकि लिखित परीक्षा के लिए उतनी जानकारी काफी नहीं होती है. बताते चलें कि सुधीर कुमार ने दसवीं की पढ़ाई महुआ के ही एक निजी स्कूल से की जिसके बाद बिहार बोर्ड से इंटर करने के बाद JEE क्वालीफाई किया. उसके बाद IIT कानपुर से स्नातक की डिग्री हासिल की. सुधीर कुमार ने दिल्ली में रहकर यूपीएससी की तैयारी भी की. जानकारी के मुताबिक उन्होंने यूपीएससी प्री परीक्षा में पास कर लिया है. सुबोध कुमार के पिता बिरेंद्र कुमार महुआ पोस्ट ऑफिस में काम करते हैं. जबकि मां ANM है. दो बहनों में वह छोटे हैं. वहीं उन्होंने कहा कि यूपीएससी हो या बीपीएससी, वे बिहार में ही सेवा देना चाहते हैं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here