80 साल से ऊपर और दिव्यांग जनों को घर से ही वोट देने की सुविधा- EC

0
201

बिहार में विधानसभा चुनाव को लेकर निर्वाचन आयोग की टीम बिहार के दौरे पर है. मुख्य चुनाव आयुक्त सुनील अरोड़ा ने पटना में मीडिया से बात करते हुए कहा कि निर्वाचन आयोग राज्य में सुरक्षित निष्पक्ष और शांतिपूर्ण चुनाव कराने के लिये कटिबद्ध है. उन्होंने कहा कि सोशल मीडिया से धार्मिक और जातीय भावनाओं को भड़काया गया तो बर्दाश्त नहीं किया जाएगा और IT और IPC एक्ट के तहत कार्रवाई की जाएगी. उन्होंने कहा कि यह चुनाव कोरोना काल में करवाया जा रहा है जो कोई आसान काम नहीं, बल्कि दुरुह है.

इस दौरान मुख्य चुनाव आरोड़ा ने कहा कि प्रथम चरण की आज शुरुआत हो गई है. चुनाव आयोग की टीम ने सभी संबंधित विभागों से मंत्रणा भी की है और कई फैसले लिए हैं. उन्होंने बताया कि कोविड 19 को लेकर बड़ा फैसला लिया गया है जिसके तहत 80 साल से ऊपर और दिव्यांग तभी मतदान करने आएंगे जब वे आने में सक्षम हों. नहीं तो घर से ही उनको वोट देने की सुविधा होगी. वहीं कोविड पॉजिटिव भी मतदान के आखिरी वक्त में वोट करेंगे.

इस दौरान बोलते हुए उन्होंने कहा कि वर्चुअल कैम्पेन नहीं बल्कि एक्चुअल कम्पैन भी होंगे. जिलावार हॉल और ग्राउंड की सूची तलब की गई है. डीएम और एसपी की मदद से यह काम सीईओ देखेंगे. 2 गज की दूरी का मानक रखना होगा जरूरी होगा. उन्होंने कहा कि राज्यसभा और विधानसभा चुनाव में काफी अंतर होता है इसके मद्देनजर आयोग ने कई निर्णय लिए हैं.

मुख्य चुनाव आयुक्त ने कहा कि कई राजनीतिक दलों ने कोरोनाकाल मे सोशल डिस्टेंसिंग का मुद्दा उठाया है. पो स्टल बैलेट के बारे में कुछ दलों ने बात की है. बुजुर्ग और विकलांग मतदाताओ को समय पर वोटिंग की अपील की गई. कमजोर वर्ग के लिये भी सुरक्षा की मांग रखी गई. कुछ दलों ने बाढ़ का मुद्दा ऊठाया.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here