ADR का बड़ा खुलासा: दागी उम्मीदवारों में राजद-कांग्रेस आगे, तीसरे नंबर पर जदयू

0
207

बिहार विधानसभा चुनाव पर सभी की नजरें टिकी हुई है वह और बात है कि अबतक पार्टियों के बीच तू-तू, मै-मैं की स्थिति सीट बंटवारे को लेकर बनी हुई है. विपक्ष तो विपक्ष एक गूट के दल में भी कम विरोधाभास देखने को नहीं आ रहा है। सीटों के बंटवारे को लेकर सियासी शतरंज जारी है।
इस सब के बीच एडीआर ने जो रिपोर्ट प्रकाशित की है वह बिहार के जनता को चौंकाने वाली है। एसोसिएशन ऑफ डेमोक्रेटिक रिफॉर्म्स ने राजनीती में दागी विधायकों की सूचि जारी की है।

चुनाव में पार्टियों में दागी उम्मीदवारों का भी बोलबाला है। पार्टियां न तो इन्हें टिकट देने से हिचकती है और न ही जनता इन्हें वोट देने से। मौजूदा समय में राजनीति का दौर बदल गया है. सियासत में सिर्फ बेदाग और साफ -सुथरे नेता नहीं रह गए हैं. अब बाहुबली नेता भी बहुतायत में उपस्थित हैं. इन्हीं की एक रिपोर्ट एडीआर ने जारी किया है जिसके मुताबिक राजद , काँग्रेस और जदयू में ऐसे नेताओं के बारे में बताया गया है।

इस रिपोर्ट के मुताबिक बिहार में मौजूदा 57 फीसदी विधायक के खिलाफ आ-पराधिक मामला है। इनमें सबसे आगे राजद है। राजद के 41 फीसदी यानि की 33 विधायकों के खिलाफ मामला है। वहीँ कांग्रेस के 40 फीसदी यानि कि 10, जेडीयू के 37 फीसदी यानि कि 26 और भाजपा के 35 फीसदी यानि कि 19 विधायकों के खिलाफ में मामला दर्ज हैं. कुल विधायकों में 30 पर ह त्या के प्रयास , पांच पर महिला अत्याचार से सम्बन्धित और एक विधायक पर रे -प केस है. राजद और कांग्रेस में सबसे ज्यादा दागी उमीदवार हैं वहीँ जेडीयू तीसरे नंबर पर है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here