बिहार मे शराब तस्करी रोकने के लिए अब होगा नए उपकरण का इस्तमाल

0
233

बिहार मे शराब बंदी के बाद भी शराब कि तस्करी जारी है . सरकार ने smuggler को रोकने के लिए कई तरह के उपकरण का प्रयोग करने के बावजूद भी तस्करी कम नहीं हुई . इसे रोकने के लिए सरकार ने नए उपकरण का प्रयोग करने को कहा है ,जिससे दूर तक दिख जायेगा सब कुछ .
बिहार मे जिस तरह शराब तस्करी के लिए स्मगलर नई-नई तरीको का उपयोग कर रहे है , उसी तरीके से उत्पाद विभाग भी नई उपकरण का उपयोग कर रहे है . पिछले साल उत्पाद विभाग ने स्मगलर को पकड़ने के लिए हेलीकाप्टर का प्रोयग किया था , हेलीकाप्टर के प्रोयग के बाद भी स्मगलर पकडे नहीं गए तब विभाग ने ड्रोन का इस्तमाल शुरू कर दिया . हालाकि बिहार के जिले में ड्रोन भी उपलब्ध कराने के साथ उन्हें चलाने के लिए ट्रेनिंग भी दी गई।इन सभी उपकरणों का इस्तमाल होने के बाद भी तस्करी नहीं रुकी .  बिहार के सीमाओं से दूसरे राज्यों से शराब का धंधा बंद नहीं हो रहा । अब उत्पाद विभाग ने शराब के तस्करों पर नजर रखने लिए दूरबीन का प्रयोग करना शुरू कर दिया है। जो काम लाखो की ड्रोन नहीं कर पाई अब वह काम दूरबीन करेगी .

Sharaab Alcohol_20200901-163629_1 » Kashmir.Today

दरअसल कटिहार का एक इलाका जो गंगा और महानंदा नदी से झारखण्ड और बंगाल को साथ जोड़ता है . ऐसे में इन जल मार्गो से विदेशी शराब की तस्करी के साथ -साथ दियरा में देशी शराब की भट्टी पर रोक लगाना अक्सर प्रशासन के लिए चुनौती बना हुआ रहता है ,इसी को रोकने के लिए उत्पाद विभाग को नए उपकरण के साथ -साथ दूरबीन भी मिला है, जिसके सहारे दूर से ही शराब स्मगलर पर नज़र रखी जाएगी .

Bihar Liquor Ban: शराब पीने पर अब नहीं होगी जेल, नीतीश सरकार का बड़ा फैसला - bihar Relaxation in liquor ban no arrest or jail in liquor consumption nitish kumar NTC - AajTak

जिला कटिहार उत्पाद अधीक्षक केशव कुमार झा ने बताया कि उनके और सरकार की तरफ से शराब स्मगलर पर निगरानी रखने के लिए टेलीस्कोप और दूरबीन की खरीदारी करने केआदेश दिए गए हैं। जिसमें फिलहाल दूरबीन की खरीदारी की गई है। इसकी सहायत से कठिन और पहाड़ी क्षेत्रों में निगरानी रखने में सहायता मिलेगी। उत्पाद अधीक्षक ने बताया कि ड्रोन के प्रयोग से शराब स्मगलर पर लगाने में काफी कामयाबी मिली है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here