मैट्रिक छात्र अपने अंक से नहीं हैं संतुष्ट तो कॉपी मुल्यांकन के लिए यहां करे क्लिक

0
99

जैसा की बिहार एग्जामिनेशन बोर्ड के द्वारा दसवी के नतीजे पिछले दिनों जारी कर दिए गए थे. जिसमे कुल 12 लाख 93 हज़ार 54 विद्यार्थी उत्तीर्ण हुए हैं और वही अनुत्तीर्ण विद्यार्थी की बात करे तो कुल 3 लाख 60 हज़ार 655 विद्यार्थी अनुत्तीर्ण हैं.

और वही टॉपर की बात करे तो यह मैट्रिक के रिजल्ट में पहली बार हुआ है की टॉपर लिस्ट के हर नंबर पर एक से ज्यादा विद्यार्थी हैं. जिसमे कुल मिलकर 101 छात्र और छात्राएं हैं जिन्होंने टॉप-10 में अपनी जगह बनायीं है. टॉप-10 के ये 101 विद्यार्थी 71 अलग-अलग गावों और कस्बों के रहने वाले हैं.
आपको बता दे की मेधा सूची के टॉप-3 में कुल 11 विद्यार्थी शामिल हैं जिनमे से 7 केवल लड़कियां है. और कुल उत्तीर्ण छात्राओं की बात करे तो उनकी कुल संख्या 6 लाख 16 हज़ार 536 है और वही कुल उत्तीर्ण छात्रों की बात करे तो उनकी कुल संख्या 6 लाख 76 हज़ार 518 है जो की छात्राओं की अपेक्षा 59 हज़ार 982 ज्यादा है.
टॉप-1 को कवर करने वाले विद्यार्थी की बात करे तो सिमुलतला आवासीय विद्यालय की दो छात्रा पूजा कुमारी और शुभदर्शनी और रोहतास स्थित बलदेव हाई स्कूल दिनारा के संदीप कुमार हैं.

अगर दसवी के परीक्षाफल से कोई विद्यार्थी असंतुष्ट हैं तो आप 11 अप्रैल से 17 अप्रैल के बीच स्क्रूटनी के लिए आवेदन कर सकते हैं. हर बार ऐसा होता है की स्टूडेंट्स अपने किसी विषय के क्रमांक को लेकर खुश नही होते हैं उन्हें लगता है की और भी नंबर आ सकते थे इसमें वैसे विद्यार्थी उस विषय को लेकर स्क्रूटनी फॉर्म भरते हैं जिसमे आपके उस विषय की कॉपी दोबारा जांच की जाती है. छात्रों को हर विषय की स्क्रूटनी के लिए 70 रूपये फी भरनी परेगी. आपको बता दे की इस बार स्क्रूटनी के लिए आपका ऑनलाइन आवेदन ही मान्य होगा.

बिहार बोर्ड मैट्रिक के छात्र अगर परीक्षा में शामिल विद्यार्थी यदि एक या किली विषय के प्राप्तांक से संतुष्ट नहीं है तो अपने उस विषय की उत्तरपुस्तिका का मुल्यांकन के लिए बिहार सरकार की अधिकारिक वेबसाइट BiharBoardonline.bihar.gov.in पर जाकर आपर 11 अप्रैल से 17 अप्रैल के बीच मे निर्धारित शुल्क के साथ ऑनलाइन आवेदन कर सकते हैं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here