बिहार में सियासत तेज, अशोक चौधरी ने श्याम रजक को बताया मंदबुद्धि छात्र

0
165

बिहार में इस साल होने वाले विधानसभा चुनाव को लेकर राजनीति तेज हो गई है. बिहार के पूर्व मंत्री श्याम रजक के JDU छोड़कर राजद ज्वाइन करने के बाद से बिहार में सियासी पारा और बढ़ गया है. श्याम रजक ने राजद ज्वाइन करते ही कहा था कि नीतीश कुमार दलित विरोधी है. इसके बाद जदयू की तरफ से कमान संभालते हुए भवन निर्माण मंत्री अशोक चौधरी ने सरकार का बचाव करते हुए कहा कि श्याम रजक मंदबुद्धि छात्र हैं.

अशोक चौधरी ने साफ-साफ कहा कि श्याम रजक ऐसे छात्र हैं जिन्हें नीतीश कुमार को समझने में 11 साल लग गए. किसी भी छात्र को सिलेबस समझने में इनते साल नहीं लगते. उन्होंने कहा कि जब वे राजद छोड़कर जदयू में आए थे उस समय तक नीतीश कुमार उनके सबसे बड़े हितैषी थे, लेकिन आरजेडी में जाते ही नीतीश कुमार दलित विरोधी हो गए. श्याम रजक पर प्रहार करते हुए अशोक चौधरी ने कहा कि मंदबुद्धि छात्र से यही उम्मीद की जा सकती है.

अशोक चौधरी ने आगे बोलते हुए कहा कि आजादी के बाद देश में सबसे बड़े दलितों के हितैषी नीतीश कुमार रहे हैं. बिहार में दलितों के लिए न तो अलग से कोई विभाग था और ना ही कोई बड़ा बजट दलितों के लिए 40 करोड़ के बजग को बढ़ाकर 3000 करोड़ तक पहुंचाया. उन्होंने सिविल सर्विसेज की तैयारी कर रहे दलित छात्रों को आर्थिक मदद देश के किसी भी राज्य मे कोई नहीं करता. बिहार एकलौता राज्य हैं जहां दलित छात्रों को आर्थिक मदद देता है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here