युवा समाजसेवी आसिफ़ कमाल, चौरिटी एक्जिबिशन के माध्यम से बिहार में बाढ़ पीड़ितों की मदद करेंगे

0
39

बिहार इन दिनों दोहरी मार झेल रहा है. एक तरफ जहां कोरोना वायरस जैसी महामारी है तो वहीं दूसरी तरफ बिहार का उत्तरी हिस्सा बाढ़ की चपेट में है. आज पूरी दुनिया सावधानी बरत रही है और सामाजिक दूरी बनाए रखने और एक-दूसरे से नहीं मिलने के संकल्प को निभाने की कोशिश कर रही है उसी समय बिहार में बाढ़ प्रभावित जिलों के लोग अपना घर छोड़ने के लिए मजबूर हैं, सड़क पर रहने के लिए मजबूर हैं वे बेहद खराब स्थिति में हैं, उन्हें भोजन और आश्रय की आवश्यकता है.

ऐसे दूःख की घड़ी में आसिफ़ कमाल फ़ाउंडेशन और अल्तुराश आर्ट ने बाढ़ प्रभावित क्षेत्र के लिए एक कला एग्ज़िबिशन का आयोजन किया है. जो 15 अगस्त से लगातार 60 दिनों के लिए देश और विदेशों में कला प्रेमियों के लिए लगभग 2 करोड़ रुपए की कुल राशि के मूल्य की कला और कलाकृतियाँ बेचकर अल्तुराश आर्ट और आसिफ़ कमाल फ़ाउंडेशन के तरफ़ से बिक्री का 10% मुख्यमंत्री आपदा राहत कोष में दान करने का संकल्प लिया है. यह राशि कला और कलाकृतियाँ बेचकर एकत्र की जाएगी. यह फाउंडेशन देश के विभिन्न छोटे संस्था और कला प्रमोटर्स की मदद से इस कार्य को पूरा करेगी.

आरिफ कमाल फाउंडेशन यह प्रदर्शन 60 दिनों के लिए ऑनलाइन अल्तुराश आर्ट गैलरी और आरिफ कमाल फाउंडेशन की वेबसाइट पर तथा दिल्ली के साकेत के डीएलएफ मॉल में वास्तविक रूप से मौजूद रहेंगे. आपको बता दें कि इस चैरिटी एक्जिबिशन की शुरुआत 15 अगस्त से शुरू हो गया है. इस फाउंडेशन का उद्देश्य है कि ग्रामीण भारत को शक्षा और स्वास्थ्य के क्षेत्र में सशक्त बनाना. इस बावत आरिफ ने कहा कि ग्रामीण भारत को सशक्त बनाके ही आप सम्पूर्ण भारत को सशक्त बना सकते हैं.

आसिफ़ बिहार के सुपौल ज़िला के रहने वाले हैं, उनका जन्म क़दमपुरा गाँव में 10 अक्टूबर 1989 को हुआ था, आसिफ़ दुबई स्तिथ अल्तुराश समूह के अध्यक्ष हैं और आसिफ़ कमाल फ़ाउंडेशन के संस्थापक भी हैं. आसिफ़ कमाल पेशे से एक कला व्यापारी और कला पारखी हैं , देश के कला और संस्कृति को अंतर्रष्ट्रिया मंच तक ले जाना और उनको प्रमोट करना इनका मुख्य काम है, आसिफ़ कमाल अपने संस्था के ज़रिए कोविड-19 और लॉकडाउन के समय लोगों की हर सम्भव मदद कर रहे है, प्रवासी मज़दूर को उनके घर भेजने के लिए बसों की व्यवस्था की.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here