बिहार में 3 से 4 चरणों में हो सकते हैं विधानसभा के चुनाव, बहुत जल्द होगी तारीखों की घोषणा

0
344

बिहार में इस साल होने वाले विधानसभा चुनाव को लेकर राजनीति पूरी तरह से तेज हो गई है. सभी राजनीतिक पार्टियों ने चुनाव की तैयारी पूरी कर ली है. ऐसे में निर्वाचन आयोग ने भी कमर कस लिया है. चुनाव आयोग की 2 सदस्यों की टीम दो दिनों के बिहार दौरे पर है. आपको बता दें कि यह टीम प्रदेश के जिलों में जाकर चुनाव की समीक्षा कर रही है. वे जिधाधिकारी और एसपी के साथ बैठक कर रहे हैं. इधर सत्ताधारी दल अपनी योजनाओं का उद्धाटन और शिलान्यास कर रहे हैं.

मंगलवार को निर्वाचन आयोग की टीम भागलपुर में 12 जिलों के डीएम और एसपी के साथ समीक्षा बैठक की. इस बैठक में भागलपुर, बांका, मुंगेर, लखीसराय, शेखपुरा, जमुई, खगड़िया, बेगुसराय, पुर्णिया, अररिया, किशनगंज और कटिहार के जिलाधिकारी शामिल हुए. जिसमें इन जिलों में चुनाव को लेकर स्थिति की समीक्षा की गई है. बताया तो यह भी जा रहा है कि इन सभी जिलों में एक साथ चुनाव कराया जा सकता है.

दोपहर के बाद बोधगया में 7 जिलों के जिलाधिकारी और एसपी, एएसपी के साथ चुनाव अधिकारीयों के साथ चुनाव आयोग की टीम के साथ बैठक होगी. जिसमें गया, जहानाबाद, अरवल, नवादा, औरंगाबाद, कैमूर और रोहतास इन जिलों के अधिकारी इस बैठक में शामिल होंगे. इनके बारे में भी यही बताया जा रहा है कि इन सभी जिलों में एक ही तारीख में चुनाव हो सकता है.

आपको बता दें कि चुनाव आयोग की टीम सोमवार को पटना पहुंची पटना पहुंचने के साथ ही टीम मुजफ्फरपुर के लिए निकल गई. जहां चुनाव आयोग की टीम ने उत्तर बिहार के जिलों की जिलाधिकारी और एसपी के साथ समीक्षा की है. जिसमें आने वाले जिले हैं मुजफ्फरपुर, सीतामढी, शिवहर, पश्चिमी चंपाण, पूर्वी चंपारण, वैशाली, दरभंगा, मधुबनी, समस्तीपुर, सहरसा, सुपौल और मधेपुरा.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here