‘ग्रेजुएट चायवाली’ के बाद अब ‘आत्मनिर्भर चायवाली’ बटोर रही है सुर्खियां, BCA करने के बाद खोली चाय की दुकान

0
148

पिछले कुछ दिनों से पटना में ग्रेजुएट चायवाली नाम की एक लड़की का विडियो काफी वायरल हो रहा है. वहीं ग्रेजुएट चायवाली के नाम से मशहूर हो चुकी युवती प्रियंका गुप्ता के पहल की काफी तारीफ हो रही है. प्रिंयका गुप्ता के बाद अब और एक और चाय वाली युवती की दुकान स्रुखियों में हैं.

जिसने बैचलर ऑफ कंप्‍यूटर एप्लिकेशन यानि BCA करने के बाद चाय की दुकान खोली है. पटना के ज्ञान भवन के बाहर स्टाल लगाकर चाय बेचने वाले लड़की का नाम मोना पटेल है. मोना ने बताया है कि BCA करने के बाद उन्हें नौकरी में मिली थी.

मोना 15 हजार की सैलरी ऑफर की गई थी, लेकिन उसने इतने कम वेतन में काम करने के बजाय चाय बेचना अच्छा समझा इसलिए उसने चाय की दुकान खोल ली.

मोना ने अपनी दुकान के आगे आत्मनिर्भर चायवालीलिखा है. साथ ही उसने अपने दुकान के आगे एक सलोग्न भी लिखा है. जो इस प्रकार है, ‘वो चिराग क्या रौशनी करेंगे, बेटियां उजाला करने के लिए काफी है.’ इसके साथ ही उन्होंने अपने पंच लाइन में यह लिखा है कि एक कप चाय हो जाय‘.

जो लोगों काफी आकर्षित कर रहीं हैं. इसके साथ ही उन्होंने अपने चाय एक अलग अलग फ्लेवर का विकल्प भी रखा है, जिनमें कुल्हड़ चाय, स्पेशल चाय और पान चाय शामिल है. जिनकी कीमतें 10 रूपये से लेकर 20 रूपये तक है.

बताया जा रहा है प्रियंका गुप्ता की सलफता मोना के लिय प्रेरणा का श्रोत बना. जिसके बाद मोना ने नौकरी छोड़कर अपने मातापिता को बिना बताये पटना के गांधी मैदान के पास चाय बेचना शुरू कर दिया.

प्रियंका से प्रेरणा लेकर चाय की दुकान खोलने वाली मोना बताती हैं उन्हें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की आत्मनिर्भर भारत की परिकल्पना से काफी प्रेरित है. मोना अपनी चाय की दुकान से आगे की पढाई के लिए पैसे जुटाना चाहती हैं. मोना ने पटना के जेडी विमेंस कॉलेज से 2021 में BCA किया है. आगे अब MCA करना चाहती है.

उसके बाद उन्हें 15 हजार प्रति महीने की जॉब भी मिली. लेकिन BCA करने के बाद भी इतने कम वेतन में उनका मन काम करने में नहीं लग रहा था. इसी दौरान उन्होंने ग्रेजुएट चाय वाली प्रियंका गुप्ता की कहानी सुनी और खुद भी नौकरी छोड़कर चाय की दुकान खोलने का मन बना लिया. उसके बाद किसी को बताये बिना कुछ पैसा इक्कट्ठा करके पटना के ज्ञान भवन के पास अपनी दूकान खोल ली.

प्रियंका समस्तीपुर की रहने वाली है. उनके पिता के एक शिक्षक है. जोकि एक निजी स्कूल में बच्चों को पढ़ाते हैं. मोना ने अपनी पढ़ाई पूर्णिया में अपने नाना नानी के घर पर रहकर की है. खबरों की माने तो मोना पटेल के दुकान पर चाय पीने वालों के भारी भीड़ देखने को मिल रही है. लोग इनके दुकान की मसाला चाय और पान चाय को काफी पसंद कर रहें हैं.

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here