देश भर के बैंक कर्मचारी जाएंगे हड़ताल पर, अभी निपटा लें सारे काम

वेतन में महज दो फीसदी का इजाफा देश भर के बैंककर्मियों को अखर गया है. बैंक कर्मचारियों के यूनियन इस मुद्दे पर बुरी तरह भड़के हुए है. सरकारी बैंककर्मियों का संगठन इंडियन बैंक एसोसिएशन ने इस वेतन बढ़ोत्तरी के खिलाफ 30 मई और 31 मई को राष्ट्रव्यापी बैंक बंद का आह्वान किया है. इस हड़ताल में सरकारी व निजी दोनों बैंकों के कर्मी शामिल होंगें.

बैंक यूनियंस के संगठन यूनाइटेड फोरम ऑफ बैंक यूनियंस ने इस हड़ताल के बारे में स्पष्ट करते हुए बताया कि पिछले 05 मई को इंडियन बैंक एसोसिएशन ने कर्मचारियों के वेतन में दो प्रतिशत के इजाफे का प्रस्ताव दिया था जिसे यूनियनों ने खारिज कर दिया है.

बिहार के क्षेत्रीय बैंकों के कर्मचारियों के यूनियन बिहार प्रोविन्सियल बैंक इम्पलॉयज एसोसिएशन के सचिव संजय तिवारी ने हड़ताल पर अपना रुख स्पष्ट करते हुए बताया कि वह पूरी तरह से इस बात पर अड़े रहें कि अधिकारियों की मांगों पर जो बातचीत हो रही है वह केवल स्केल 3 तक हीं सीमित रहेगी.

पिछली बार बैंक कर्मियों के वेतन में 15 प्रतिशत का इजाफा हुआ था. यूनाइटेड फोरम ऑफ बैंक यूनियन यानी यूएफबीयू, ऑल इंडिया बैंक आफिसर्स कॉन्फेडरेशन, ऑल इंडिया बैंक इम्प्लॉयज एसोसिएशन तथा नेशनल ऑर्गेनाइजेशन ऑफ बैंक वर्कर्स सहित नौ संगठनों का एक निकाय है.

यूएफबीयू के प्रवक्ता ने बताया कि वेतन में इस मामूली वृद्धि के खिलाफ देश भर के 10 लाख से ज्यादा बैंकों के अधिकारी और कर्मचारी 30 मई और 31 मई को हड़ताल पर रहेंगें.

बैंक यूनियनों ने साफ किया है कि बैंक कर्मियों एवं अधिकारियों के वेतन में इजाफे का मसला जो 01 नवंबर 2017 से देय है, उसी के मुद्दे परएसबीआई, पीएनबी, बैंक ऑफ बडौदा, इलाहाबाद बैंक, यूनियन बैंक, यूको बैंक सहित पब्लिक व प्राइवेट सेक्टर के सभी बैंकों के अधिकारी व कर्मचारी यूनाइटेड फोरम ऑफ बैंक यूनियन के बैनर तले हड़ताल पर रहेंगे.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here