बिहार से नेपाल का सफर होगा आसान, नई रेललाइन का रास्ता हुआ साफ

0
988

बिहार के लोगों के लिए एक बड़ी खुशखबरी सामने आ रही है. बताया जा रहा है कि बहुत ही जल्द भारत से नेपाल जाने के लिए सीधी रेल लाइन सेवा की शुरुआत होने वाली है. बताया तो यह भी जा रहा है कि बहुत ही जल्द नेपाल से विराटनगर के बीच में रेलवे की शुरुआत होने वाली है और इस बार यह ट्रेन पूर्णिया से होते हुई जाएगी. इस ट्रेन की शुरुआत हो जाने से न सिर्फ ट्रेन के आवागमन की सुविधा बढ़ जाएगी बल्कि अंतरराष्ट्रीय बाजार को भी लोगों को ज्यादा परेशानी का सामना नहीं करना पड़ेगा. साथ ही यह भी बताया जा रहा है कि भारतीय रेलवे से राजस्व में बढ़ोतरी देखने को मिलने वाली है.

बिहार के पूर्णिया से रेलवे लाइन की शुरुआत को लेकर बोलते हुए नॉर्थ फ्रंटियर रेलवे के GM अंशुल गुप्ता ने बताया है कि बथनाहाविराटनगर इंडो नेपाल परियोजना पूर्णिया के जोगबनी होते हुए नेपाल के विराटनगर तक ट्रैक बिछाने का काम काफी पहले से चल रहा है. इस दौरान उन्होंने यह भी बताया है कि पूर्णिया से जोगबनी होते हुए नेपाल के विराटनगर तक ट्रैक बिछाने का काम काफी पहले से चल रहा है. उन्होंने बताया कि विराटनगर के कस्टम यार्ड तक कनेक्टिविटी हो चुकी है. लेकिन बुद्धनगर के बीच में भूमि अधिग्रहण का मामला अटका हुआ है. उन्होंने कहा है कि बहुत ही जल्द इसका निपटारा भी कर लिया जाएगा.

बिहार पहुंचे एनएफ रेलवे के जीएम अंशुल गुप्ता ने बताया कि नेपाल से रेल कनेक्टिविटी के लिए प्रयास काफी दिनों से चल रहा था. इस कनेक्टिविटी की शुरुआत हो जाने के बाद अब मार्च 2023 तक विराटनगर तक पैसेंजर ट्रेन की शुरूआत करने की बात कही गई है. इस दौरान उन्होंने यह भी कहा है कि इस दौरे में न केवल भूमि अधिग्रहण का मामला सुलझाया जाएगा बल्कि रेलवे के आय में भी बढ़ोतरी होगी साथ ही साथ भारत और नेपाल के बीच के व्यापारिक रिश्तों में भी मधुरता बढ़ेगी. इस दौरान बोलते हुए उन्होंने यह भी कहा है कि इस मीटिंग में भारत व नेपाल के बीच होने वाले कारोबार की माल ढुलाई सड़क मार्ग के बजाय रेल से करने की अपील की जाएगी. इस दौरान उन्होंने इस बात का भी जिक्र किया है कि ट्रकों की अपेक्षा ट्रेनों से सामान की ढुलाई में पैसे कम लगते हैं.

वहीं अगर हम भारत और नेपाल के बीच के संबंध को देखे तो भारत और नेपाल के बीच का संबंध रोटीबेटी का संबंध है. बता दें कि इन दोनों ही देशों के लिए एक दूसरे के देश में रोजगार के लिए आते जाते हैं साथ ही साथ एक दूसरे के देश मे शादी विवाह के लिहाज से आते जाते हैं. आपको जानकर आश्चर्य होगा कि पूर्णिया और कोशी प्रमंडल में इस तरह का संबंध देखने को सबसे ज्यादा मिलता है. आपको जानकर हैरानी होगी नेपाल की बेटियां बिहार के पूर्णिया जिले के कई अलग अलग हिस्सों में रह रही है.

अगर हम व्यापार के नजरिये से देखें तो दोनों ही देश एक दूसरे पर कमोबेश निर्भर हैं. जैसे कि नेपाल की सरकार भारत से नमक, तेल, खाद्यान, उर्वरक के साथ ही कई सामान लाते हैं. जबकि भारत के लोग भी नेपाल से कई सामान को लाते हैं जैसे कि टाफियां, बिस्किट, नमकीन, सिगरेट, कपड़ा आदि भारत मंगाया जाता है. आपको बता दें कि अभी तक भारत और नेपाल के बीच में व्यापार ट्रकों के माध्यम से होता रहा है लेकिन जब ट्रेनों की शुरुआत होगी तो यह व्यापारिक दृष्टिकोण से यह काफी महत्वपूर्ण होने वाला है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here