मंगल पांडेय का चैलेेंज: हमारी डबल इंजन की सरकार में बेहतर स्वास्थ्य सुविधाएं

देश के जाने माने और प्रतिष्ठित मीडिया समूह टीवी 9 भारतवर्ष ने बिहार के स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय का इंटरव्यू प्रकाशित किया है. मालूम हो कि कोरोना के विरुद्ध जंग में जिस प्रकार की लापरवाही की कई घटनाएं बिहार में सामने आईं हैं, उससे स्वास्थ्य मंत्री लगातार मीडिया और विपक्ष के निशाने पर हैं. आलोचनाओं के बीच स्वास्थ्य मंत्री मीडिया के सामने आएं और डंके की चोट पर कहा कि बिहार में सब कुछ ठीक है.

औसत मृत्यु दर के मामले में बिहार बेहतर

मंगल पांडेय ने कहा कि डबल इंजन की सरकार होने की वजह से आज बिहार औसत मृत्यु दर के मामले में और राज्यों से बेहतर कर रहा है. बिहार में 19 हजार लोग अब तक कोरोना वायरस की महामारी से स्वस्थ हो चुके हैं. यह डबल इंजन की सरकार का ही कमाल है कि हम बिहार के लोगों को बेहतर स्वास्थ्य सुविधाएं मुहैया करा रहे हैं.

स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि याद किजिए कि जब कोरोना की शुरुआत हुई थी तो उस वक्त क्या स्थिति थी. उस वक्त के हालात और अब के हालातों की तुलना किजिए तो आप पाएंगे कि हम काफी बेहतर स्थिति में हैं. आज हम पीपीई किट बना रहे हैं. आज हम मास्क बना रहे हैं. बिहार में पहले सिर्फ 900 वेंटिलेटर थें. हमने 400 अलग से वेंटिलेटरों की व्यवस्था की. इसमें से 364 वेंटिलेटर भारत सरकार की ओर से मिले हैं. आज हम आरटीपीसीआर किट से जांच की ओर आगे बढ़ रहे हैं.

मीडिया पैनिक कर रहा

मंगल पांडेय ने कहा कि भारत सरकार ऑक्सीजन मुहैया करा रही है. केंद्र सरकार और बिहार सरकार मिलकर बिहार में कोरोना से जंग लड़ रहीं हैं और इन्हें काबू करने का प्रयास कर रही है. वहीं मीडिया के रवैये पर सवाल खड़े करते हुए स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि मीडिया को रोल बेहद महत्वपूर्ण होता है लेकिन इस दौर में मीडिया पैनिक कर रहे हैं. एनएमसीएच में सिलेंडर नहीं होने की बात को गलत ठहराते हुए मंगल पांडेय ने कहा कि मैं चुनौती दे रहा हूं कि आप साबित किजिए कि एनएमसीएच में सिलेंडर नहीं था. स्वास्थ्य मंत्री ने नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव पर भी निशाना साधा और कहा कि बिहार में विपक्ष है कहां, तेजस्वी यादव कब से बाहर ही नहीं निकले हैं. पता नहीं वो दिल्ली से कब आएं हैं !

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here