भीम आर्मी का रावण जेल से रिहा, छूटते ही BJP के खिलाफ खोल दिया है मोर्चा

0
357

चनद्रशेखर उर्फ़ “रावण” भीम आर्मी का संस्थापक है जिसे 2017 में हुए जातीय हिंसा के कारण जेल हुई थी. देर रात उसे जेल से रिहा किया गया और रिहाई के बाद उसने अपने समर्थकों के साथ पैदल मार्च भी निकाला.

रावण को उत्तर प्रदेश के सहारनपुर में जातीय हिंसा फ़ैलाने के लिए जेल हुई थी. रावण की रिहाई के फैसले को योगी सरकार का मास्टरस्ट्रोक माना जा रहा था जो अब फेल होते दिख रहा है क्यूंकि रावण ने छूटते के साथ ही बीजेपी के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है.

रावण ने संविधान की कॉपी दिखते हुए कहा की हम आने वाले चुनाव में बीजेपी को हराएंगे। उत्तर प्रदेश की बीजेपी सरकार ने तो रावण को 2019 के चुनाव के मद्देनज़र रिहा किया था ताकि SC/ST मतदाताओं को खुश किया जा सके लेकिन यह दांव अब उल्टा होता नज़र आ रहा है.

भीम आर्मी का कहीं न कहीं काफी असर है क्यूंकि दलितों के साथ साथ मुस्लिम भी उनके साथ जुड़े है. अब यह देखना दिलचस्प होगा की चंद्रशेखर उर्फ़ रावण बीजेपी को आगामी लोकसभा चुनाव में कितना नुकसान पहुंचा पाता है.

  • 56
  •  
  •  
  •  
  •  
    56
    Shares

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here