skip to content

ठंड से अभी नहीं मिलेगी राहत, इस दिन से शुरू होगा “सेकेंड कोल्ड वेव”

Bihari News

बिहार में कड़ाके की ठंड कम होने का नाम ही नहीं ले रहा है. इन दिनों प्रदेश में पछुआ हवा के प्रवाह के कारण पूरी दशा और दिशा दोनों ही बदल गई है. बता दें कि राजधानी पटना के साथ ही दक्षिण बिहार के कई जिलों में इन दिनों शीलतलहर जैसे हालात बने हुए हैं, वहीं उत्तर बिहार के ज्यादातर जिलों में राहत मिलने का नाम ही नहीं ले रहा है. मौसम विभाग की तरफ से जारी अनुमान के अनुसार उत्तर बिहार के अधिकांश शहरों में दिन में ही प्रचंड ठंड जैसे हालात रहने वाले हैं. बता दें कि इसी तरह के हालात 14 जनवरी तक रहने की बात कही जा रही है. हालांकि यह भी कहा जा रहा है कि दक्षिण बिहार के लोगों को इस कड़ाके की ठंड से थोड़ी राहत मिल सकती है.

बिहार में ठंड है कि सितम जारी है. मौसम विभाग की माने तो बिहार ने ठंड के पुराने सभी रिकॉर्ड को तोड़ दिया है. बता दें कि बिहार में ठंड 64 साल के रिकॉर्ड को तोड़ दिया है. मौसम विभाग की माने तो शनिवार को नया पश्चिमी विक्षोभ पश्चिमी व उत्तरी भारत में प्रवेश करेगा. बादलों व ठंडी हवाओं के असर से जम्मू कश्मीर, लद्दाख, हिमाचल प्रदेश, उत्तराखंड के साथ ही पूरे हिमालय क्षेत्र में जमकर बर्फबारी होगी. जिसका असर बिहार के कई राज्यों पर दिखने वाला है. जिसमें पटना, गया, भागलपुर, गोपालगंज, दरभंगा, पं. चंपारण, सीतामढ़ी, शिवहर के साथ ही अन्य जिलों के साथ ही गंगा के मैदानी इलाकों में इस ठंड का असर दिखने वाला है. बिहार में जारी कड़ाके की ठंड के कारण जन जीवन पूरी तरह से अस्त व्यस्य हो गया है. लोग घरों से बाहर नहीं निकल रहे हैं. दैनिक मजदूरी करने वाले मजदूरों को सबसे ज्यादा परेशानी का सामना करना पड़ रहा है. स्थिति यह है कि लोग सुबह सुबह घर से बाहर निकलने से कतरा रहे हैं. इस कड़ाके की ठंड के कारण अस्पतालों में मरीजों की भीड़ बढ़ने लगी है.

मौसम विभाग की माने तो अगले दो से तीन दिनों में ठंड और बढ़ने वाली है. उत्तर पूर्व के छह जिलों को अगर हम छोड़ दें तो प्रदेश के बाकि जिलों में कोल्ड-डे जैसे हालात रहने वाले हैं. विभाग की माने तो लोगों को इन दिनों सावधानी बरतने की जरूरत है. बता दें कि सुपौल, अररिया, मधेपुरा, किशनगंज, पूर्णिया और कटिहार में आने वाले दो दिनों तक घना कोहरा रहने वाला है. पिछले दिनों राजधानी पटना और आस पास के इलाकों में अधिकतम तापमान 8 से 10 डिग्री के पास पहुंच गया था. अब तो उच्चतम तापमान और न्यूनतम तापमान में बहुत अंतर भी नहीं रह गया है. ऐसी स्थिति में लोगों को सावधान रहने की जरूरत है. गर्म कपड़े पहनने की जरुरत है. घर के अंदर हैं तो हिटर और ब्लोअर का इस्तेमाल करें.

प्रदेश में अगर हम तापमान की बात करें तो गया, भागलपुर, समस्तीपुर, किशनगंज और वाल्मीकिनगर में 9 डिग्री तापमान रहा. तो वहीं पूर्णिया और भागलपुर में 9.8 डिग्री, गया में 9.6 डिग्री सबौर और पूर्वी चंपारण में 9.5 डिग्री जबकि नवादा में 9.2 डिग्री, रोहतास और सीवान में 8 और शेखपुरा में 7 डिग्री न्यूनतम तापमान पहुंच गया है.

Leave a Comment