कभी जलाया था बेटे का बल्ला आज उसकी सफलता से हैं खुश, जानिए बिहार के इस क्रिकेटर के बारे में

0
1049

बिहार के युवा क्रिकेटर शाहबाद नदीम का भारतीय टेस्ट टीम में चुने जाने पर पुरे परिवार में खुशी की लहर है. आस पास के लोग बधाई देने के लिए नदीम के घर पहुंच रहें हैं. नदीम के पिता जावेद महमूद बेटे की उपलब्धि से खुश है उन्होंने कहा कि भारत के लिए खेलने का जो वादा नदीम ने किया था उसे आज पूरा कर दिया.


जावेद महमूद नदीम के बारे में बताते हैं कि बेटे ने जब पहली बार बल्ला पकड़ा था तो बहुत नाराज हुए थे. नाराजगी इतनी थी कि बल्ले को ही जला दिया था. तब नदीम ने वादा किया था कि वह भारत के लिए खेलेगा और आज वह देश के लिए खेल रहा है. फिर भी  आज उसने मेरा सपना पूरा कर दिया.
बेटे की सफलता पर मां नदीम हुस्न आरा कहती हैं कि मेरे दोनों बेटे क्रिकेट खेलते हैं. बड़े बेटे अशहद इकबाल ने खेल छोड़ दिया. भारत के लिए खेलने के नदीम के जुनून ने ही उसे इस मुकाम तक पहुंचाया है. मुझे अपने बेटे की उपलब्धि पर बहुत गर्व है.
बता दें कि बिहार के मुजफ्फरपुर निवासी शाहबाज नदीम की ससुराल झारखंड के झरिया में है. झारखंड में ही उनके पिता जावेद महमूद इंस्पेक्टर थे. बाद में वे डीएसपी के पद से सेवानिवृत्त हुए. पिता जावेद सेवानिवृत्‍त होकर बिहार स्थित अपने पैतृक शहर मुजफ्फरपुर रहने के लिए आ गए. उनकी अम्‍मी भी मुजफ्फरपुर में ही रहती हैं. वहीं नदीम की प्रारंभिक शिक्षा झरिया के डिगवाडीह के डिनोबिली स्कूल से हुई है. बाद में झारखंड की ओर से खेलने लगे.

तीसरे टेस्ट के लिए टीम इंडिया-

रोहित शर्मा, मयंक अग्रवाल, चेतेश्वर पुजारा, विराट कोहली, अजिंक्य रहाणे, रिद्धिमान साहा, रवींद्र जडेजा, आर अश्विन, शाहबाज नदीम, उमेश यादव, मोहम्मद शमी.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here