बिहार के अनुपमा ने पेश की ऐसी मिसाल, फिर बन गई ‘मशरूम गर्ल’

0
563

जीवन उतना भी जटिल नहीं होता है जितना लगभग हर कोई इसे बताता है, आवश्यकता होती है तो बस शुरुआत करने की. जब आप शुरुआत करते हैं तो यह तय है कि आप उससे आगे ही बढ़ेंगे लेकिन मुश्किल होती है शुरुआत करने में, कभी अपना दिल नहीं मानता तो कभी लोग न शुरुआत करने देते हैं और न आगे बढ़ने और रही बात महिलाओं की तो उनके जन्म होते ही जरा-सा भी मायूसी न हो शायद ही कोई भाग्यशाली हो, इनसब के बावजूद जिसने सफलता हासिल की उनका दौर भी आया।

आज हम जिसके बारे में बताने जा रहे हैं वह कहानी है – एक लड़की की. जिसे आज मशरूम गर्ल के नाम से जाना जाता है। नाम है उनका अनुपम कुमारी। अनुपम बिहार के सीतामढ़ी जिले के वरहरि बेहटा गांव की रहने वाली है। बिहार में गरीबी से जूझना न पड़े शायद ही कोई ऐसा हो, बात इसी गरीबी से शुरू होती है. अनुपम के पिता कृषि के साथ प्राइवेट कॉलेज के अस्थायी शिक्षक है। उनकी कमाई इतनी नहीं थी की वे सारी जरूरतों को पूरा कर सके। अनुपम गांव के स्कूल से 12वीं और मिथिला यूनिवर्सिटी से स्नातक की पढ़ाई कर चुकी थी. और वे कृषि में कुछ बेहतर करने का सोच रही थी। बस इसी सोच के साथ कृषि विज्ञान केंद्र गयी और मशरूम की खेती तथा केंचुए की खेती से जुड़ी प्रशिक्षण हासिल कीं। केवल इतना ही किसी उद्द्योग के लिए पर्याप्त नहीं होता है. इसके बाद वे सीतामढ़ी, पटना और दिल्ली के विभिन्न शोध संस्थानों और कृषि केंद्रों से खेती की बारीकियां सीखीं और फिर अपने गांव में ऑयस्टर मशरूम का उत्पादन शुरू किया.

मशरूम की खेती में पूँजी मुट्ठी भर लगती है और आय इतना होता है की आप संभल न पाओ. पूंजी भले ही मुट्ठी भर लगती हो परन्तु बुद्धि कम नहीं लगती। बात आती है अनुपम की; उन्होंने जब इसकी खेती शुरू की तो गाँव की महिलाओं ने तंज मारने शुरू कर दिए क्यूँकि इसका उत्पादन तो भूसा और गोबर में होता है लेकिन उसकी गुणवत्ता अच्छी होती है ताकि स्वस्थ और स्वच्छ मशरूम हो। तीन महीने में उन्हें 10000 रूपये की कमाई हुई. वे 500 से शुरुआत की और 20 गुना अधिक कमाई हुई. आज वे 50 क्विंटल मशरूम की बिक्री हर महीने करती हैं.

अब वे कृषि से सम्बंधित कई प्रशिक्षण महिलाओं को देती हैं. और राष्ट्रिय स्तर पर उनकी विशिष्ट पहचान है। वे ‘अभिनव किसान’ सम्मान से सम्मानित हुई और इस साल वे देश के सर्वश्रेष्ठ किसानों में भी चुनी गईं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here