बिहार के वैज्ञानिक बेटे ने किया बिहार का नाम रोशन, आया NASA से बुलावा

0
2222

बिहार के भागलपुर गांव के ध्रुवगंज खरीक बाजार के निवासी गोपाल, जो की एक विद्यार्थी भी है | गोपाल ने सर्वप्रथम केले के तने से बिजली उत्त्पन करने की खोज करने के बाद बिहारी वैज्ञानिक बनकर बिहार का नाम रोशन किया है, जिसके बाद उन्हें सरकार ने एक project aggrement के तहत कार्य करने के भी चुन लिया है जो कि 4 सालो का है | अभी गोपाल देहरादून के graphic university के लैब में कार्य कर रहे है, जिसमे वो केले के तने से बैंडेज, बेबी पैंपर, सनेटेरी नैपकिन और यूरिया बनाने के प्रोजेक्ट पर काम कर रहे है | वो केले के तने से बिजली पैदा करने के प्रोजेक्ट को 2018 में ही ख़त्म कर चुके है |

इसके पहले गोपाल पेपर bio-cell और banana bio-cell की खोज भी कर चुके है, अब वे भारत सरकार के साथ 4 सालो के साथ अनुबंध पर काम कर रहे है | उनका एक साल पूरा हो चूका है और अब उन्होंने NASA से संपर्क कर लिया है, जिसमे उन्होने गोपनियम एलोई पर काम करने के लिए आवेदन किया था | NASA ने उनके प्रस्ताव को मंजूर कर लिया है और गोपाल को इस प्रोजेक्ट के तहत काम करने के लिए बुलाया गया है |

उन्होंने बताया कि केले के तने में दोनों electrode को लगाते है, फिर बिजली के तार को जोड़ लेने के बाद बल्ब को जलाते है तो बल्ब जलने लगता है | गोपाल ने बताया कि गोपनीयम एलोई tentilonium, hafnium, carbon और nitrogen का मिश्रण है, इस पर काम करने के बाद सूर्य पर अध्ययन करना आसान हो जायेगा | उन्होंने एक फिल्म science-fiction देखी थी, जिसके बाद उनको ये आईडिया आया था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here