MP की तरह बिहार में भी बदल सकती है सरकार, बन सकती है तेजस्वी यादव की सरकार

0
3593

आज मध्य प्रदेश में सत्ता परिवर्तन हो गया. कांग्रेस के कमलनाथ के हाथों से प्रदेश की कमान छीन गई. फ्लोर टेस्ट के पहले ही कमलनाथ ने इस्तीफे का ऐलान कर दिया. मध्य प्रदेश का यह सत्ता परिवर्तन कांग्रेस विधायकों के एक गुट की बगावत की वजह से हुई.

क्या बिहार में भी ऐसा सत्ता परिवर्तन हो सकता है ? इसका जवाब मुख्य विपक्षी दल राजद की रणनीति में दिख सकता है. बिहार विधानसभा में सबसे बड़ा दल होने के बावजूद राजद ने कभी भी सरकार बनाने में दिलचस्पी नहीं दिखाई.

बिहार में विधानसभा की कुल 243 सीटें हैं. इस लिहाज से बिहार में सरकार बनाने के लिए 122 सीटों की जरुरत पड़ती है. राजद के पास अपनी 80 सीट है. उसके सहयोगी कांग्रेस के पास 26 विधायक है. सीपीआई के 03 सदस्य बिहार विधानसभा में हैं. निर्दलीय विधायक अनंत सिंह उनके साथ हैं. एमआईएम और हम के दो विधायक भी तेजस्वी यादव को बिना शर्त समर्थन कर सकते हैं. ये पूरा आंकड़ा मिलाकर 112 हो जाता है.

इसके अलावा जेडीयू के टिकट पर 05 मुस्लिम विधायक जीते हुए हैं और करीब 17 यादव विधायक एनडीए के हैं. ये आंकड़ा 22 तक पहुंच जाता है, जबकि तेजस्वी यादव को जरुरत सिर्फ 10 विधायकों की है. मुस्लिम बहुल क्षेत्रों के विधायक जानते हैं कि भाजपा के साथ रहकर इस बार जीत की राह काफी मुश्किल होगी. कई विधायक अब राजद के संपर्क में भी बताए जाते हैं.

वैसे तो राजद नेता तेजस्वी यादव कभी भी सरकार बनाने के लिए गुणा भाग करते नजर नहीं आते हैं लेकिन अगर वो चाहें तो बिहार की सियासत में खलबली मचा सकते हैं. उनकी सरकार बनें या न बनें, नीतीश कुमार की सरकार गिरे न गिरे, सियासी बवाल तो हो ही जाना है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here