खींचतान के बीच भी एक ही मंच साझा करते दिखे महागठबंधन दल के नेता

0
520

बिहार महागठबंधन दल में खींचतान कई दिनों से देखने को मिल रहे है. महागठबंधन दल के नेतागण ही एक दुसरे पर निशाना साधने से नहीं चुकते. बात वही है जहाँ बर्तनों के ढेर होंगे वहां से आवाज़ तो आएगी ही. बिहार में 5 विधानसभा और 1 लोकसभा की सीट पर होने वाले उपचुनाव से पूर्व ही इन सीटों पर अपने प्रत्याशियों को उतारने की जदोजहद में दलों के बीच दरार पैदा हो गयी थी. इसके साथ ही होने वाले उपचुनाव में भी सभी गठबंधन दल ने अलगअलग प्रत्याशियो को मैदान में उतारा है.

लेकिन इन सब के बावजूद भी महागठबंधन दल ने राम मनोहर लोहिया की पूण्य तिथि पर आयोजित कार्यक्रम में एकता का प्रतिक साबित करने एक ही मंच साझा करते दिखे सभी महागठबंधन दल के नेता. हालांकि पहले कयास लगाये जा रहे थे कि शायद नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव इस कार्यक्रम का हिस्सा नहीं बनेंगे जिससे सियासी गलियों में मौके की तलाश में बैठे नेताओ को एक और मौका मिल जाता महागठबंधन पर अपनी दलीलों को साबित करने का. मगर ऐसा कुछ हुआ नहीं तेजस्वी आये भी और कार्यक्रम में राम मनोहर लोहिया की पूण्यतिथि पर भाषण भी दिया.

भाषण के दौरान लड़खड़ाई जुबान

आयोजित कार्यक्रम को जब नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने संबोधित करना शुरू किया तब उनकी जुबां लड़खड़ा जा रही थी. तेजस्वी बारबार राम मनोहर लोहिया के पूण्य तिथि को कभी 52वी पूण्यतिथि से संबोधित कर रहे थे तो कभी 92वी पुण्यतिथि से. तेजस्वी के इस उलझान से साफ़ तौर पर यही दिख रहा था कि उन्होंने अपना होमवर्क सही ढंग से नहीं किया था. उलझनों के मांझे से किसी तरह निकलने के पश्चात् नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव का सीधा निशाना नितीश कुमार पर था.

नितीश कुमार को कहा पलटूराम

नितीश सरकार पर तंज कसते हुए नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने साफ़ कहा कि आगामी विधानसभा चुनाव के मद्देनज़र महागठबंधन में नितीश कुमार की वापसी कभी नहीं हो सकती. मेरे चाचा पलटूराम है. पलटूराम लोगो को अब पलटने से भी गठबंधन में जगह नहीं दी जाएगी. तेजस्वी यादव यहीं नहीं रुके, उन्होंने मुख्यमंत्री नितीश कुमार से इस्तीफे की मांग भी की. तेजस्वी यादव का कहना था कि बिहार में ढीली पड़ रही प्रशासन और बिहार में बाढ़ में फंसे लोगो की परेशानियो को देखते हुए माननीय नितीश जी को अपना इस्तीफा सौंप देना चाहिए. कोई मुख्यमंत्री नितीश कुमार से पूछे की उनका 15 साल का विकास कहाँ गया? एक ही बारिश में धुल के मैला हो गया?

महागठबंधन दलों पर भी साधा निशाना

तेजस्वी यादव ने अपने ही घटक दल के नेताओ को भी आगाह करते हुए कहा कि सभी महागठबंधन दल के नेताओ को अपना ईगो छोड़ देना चाहिए तभी हम एक साथ मिल कर एनडीए को जड़ से उखाड़ पाएंगे. अगर आपसी खींचतान युहिं चलता रहा तो विपक्ष हमारी इस कमजोरी को अपनी ताकत बना लेंगे और हम कुछ भी नहीं कर पाएंगे.

पटना के बापू सभागार में आयोजित इस कार्यक्रम ने नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने हर किसी का घेराव किया. हर किसी पर तंज कसा. आपको बता दे कार्यक्रम में नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव के अलावा हिंदुस्तानी आवाम मोर्चा के अध्यक्ष जीतनराम मांझी, रालोसपा के अध्यक्ष उपेंद्र कुशवाहा, वीआइपी के अध्यक्ष मुकेश सहनी समेत अन्य नेता भी मौजूद थे.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here