भाजपा आलाकमान ने दी चेतावनी, पार्टी विरोधी कार्य पर लेंगे एक्शन

0
304

चुनावी समय में महागठबंधन से कई पार्टी अलग हो गई है। हम, रालोसपा के बाद वीआईपी भी महागठबंधन से किनारा कर लिया है. सहनी ने भाजपा से गठजोड़ किया है और भाजपा की ही तरह वे भी नीतीश कुमार को अपना अब सीएम मानने लगे हैं. एनडीए में शामिल होने के बाद मुकेश सहनी को भाजपा ने अपने कोटे से सीट दी है. भाजपा ने अपने कोटे से 11 सीटें देने का एलान किया है। इसके साथ ही साथ विधान परिषद की एक सीट भी दिए जाने का एलान कर दिया है. वहीँ भाजपा ने अपने पार्टी में सदस्यों को भी चेतावनी दे दी है.

बिहार चुनाव प्रभारी देवेंद्र फडणवीस और सुशील मोदी ने साफ़ तौर पर टिकट नहीं दिए जाने वाले नेताओं को चेतावनी दे दी है. उन्होंने कहा है कि  एनडीए के खिलाफ में जो भी चुनाव मैदान में उतरेगा, उससे पार्टी का कोई भी सम्बन्ध नहीं होगा। वहीँ जो पार्टी में रहकर गठबंधन विरोधी कार्य करेगा, पार्टी उसके खिलाफ में कड़ा एक्शन लेगी। हालाँकि उन्होंने यह भी चेतावनी दे दी है कि पहले तो बागी नेताओं को समझाया जायेगा और अगर वे नहीं मानेगे तो उनके खिलाफ एक्शन लिया जायेगा।

इसके बाद भाजपा ने चुनावी रणनीति देखते हुए अतिपिछड़ा वर्ग को लेकर बड़ा बयान दिया है. साथ ही विपक्ष पर एक बार फिर से निशाना साधा है। सुशील मोदी ने कहा है कि इस बार चुनाव में सबसे अधिक टिकट अति पिछड़ा वर्ग को दिया गया है. मोदी ने यह भी साफ़ कहा है कि बिहार में आज 16100 मुखिया अति पिछड़ा वर्ग से ताल्लुकात रखते है और यह एनडीए सरकार की देन है. एनडीए की सरकार में पंचायतों को आरक्षण दिया गया और नई व्यवस्था लागू की गई. सुशील मोदी ने राजद पर निशाना साधते हुए कहा कि लालू की सरकार थी तो 23 साल तक पंचायतों में चुनाव ही नहीं कराया गया था।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here