कोसी पर बने इस पुल से घटी दूरियां, अब नहीं लगेगा ज़्यादा समय

0
1554

अभी हाल ही में कोसी पर नया पुल चालू हुआ है जिसके कारन शहरों के बीच की दूरी बहुत काम हो गयी है। दरभंगा से सहरसा की दूरी जो NH 57 से गुजरने पर 165 किलोमीटर की दुरी तय करनी पड़ती थी अब 88 किलोमीटर में ही पूरी हो जाती है। एक दूसरा रास्ता डुमरी घाट से NH 31 को पार करना होता था, जिससे दूरी 200 किलोमीटर हो जाती थी  मगर गुरुवार को मुख्यमंत्री नीतीश कुमार द्वारा उद्घाटन किये गये गंडौल और हाटी के बीच बने पुल से दरभंगा से सुपौल होते हुए सहरसा की दूरी आधी हो गयी है। इस पुल के बन जाने से समय की बहुत ज़्यादा बचत हुई है।

इतना ही नहीं उत्तर बिहार के महत्वपूर्ण शहर मुजफ्फरपुर से सुपौल और सहरसा की दूरी दो से ढाई और मधेपुरा की दूरी तीन से साढ़े तीन घंटे में तय की जा सकती है. अब मुजफ्फरपुर से भी सुपौल, सहरसा और मधेपुरा जाना आसान हो गया है। फोर लेन से दरभंगा की दूरी 58 किलोमीटर है और दरभंगा से बिरौल की दूरी 47 किलोमीटर है जबकि बिरौल से गंडौल 13 किमी, गंडौल से बलुआहाघाट 10 किमी, बलुआहाघाट से बनगांव आठ किमी, बनगांव से सहरसा 10 किमी और सहरसा से मधेपुरा 20 किलोमीटर की दूरी तय करनी होगी। सुपौल जाने के लिए बनगांव से 30 किलोमीटर की दूरी तय करनी होगी। कुशेश्वर स्थान से फुलतोरा के बीच पुल का शिलान्यास किया गया है। इसके बन जाने से दरभंगा जिले के कुशेश्वर स्स्थान से खगड़िया की दूरी मात्र 52 किलोमीटर और दरभंगा से मात्र 116 किलोमीटर रह जायेगी।

कहा जा रहा है कि कोसी पर देश का सबसे लम्बा पुल बनने वाला है जो बिहार के मधुबनी जिले के भेजा और सुपौल के बकौर नामक दो स्थानों को जोड़ने के लिए एनएच- 527ए पर बनेगा और इस पुल की लंबाई एप्रोच सड़क को मिलाकर 13 किमी 300 मीटर की होगी। इस पुल को तैयार होने में साढ़े तीन साल का समय लगेगा। मार्च-अप्रैल से इस पुल का काम शुरू किया जाएगा और इस पुल के बनने से बहुत सारी समस्याएं दूर हो सकती है।

  • 602
  •  
  •  
  •  
  •  
    602
    Shares
Loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here