चिराग का चुनावी मिशन, नीतीश इम्पॉसिबल !

0
231

बिहार विधानसभा चुनाव को लेकर चुनावी रैलियां की जा रही है और तमाम तैयारियों हो रही है। इस सब के बीच रामविलास पासवान नहीं रहे. एक तरफ चुनाव का हुंकार और दूसरी तरफ पिता के गम झेल रहे चिराग पासवान नीतीश कुमार को अगला सीएम नहीं बनने देने की ठान ली है. लोजपा प्रमुख चिराग पासवान ने एनडीए में शामिल रहे थे और चुनाव की कुछ महीने पहले तलक एक साथ चुनाव लड़ने की खबर आ रही थी लेकिन ऐसा हुआ नहीं। चिराग ने जदयू के बजाय लोजपा और बीजेपी के विकल्प पर सहमति जताई है.

चिराग पासवान अपने पिता रामविलास पासवान का श्राद्ध कर्म करने के बाद 21 अक्टूबर से चुनावी दौरे पर निकलेंगे. उनके चुनावी मिशन का नाम होगा नितीश इंपॉसिबल. चिराग पासवान ने आज एक बार फिर से जो ट्वीट किया है वह बताता है कि नीतीश के लिए उनके मन में कितना गुस्सा है.

चिराग पासवान ने 21 अक्टूबर से चुनावी दौरे पर जायेंगे। उन इस चुनावी मिशन का नाम नीतीश इम्पॉसिबल रहेगा। चिराग पासवान का नीतीश को लेकर विरोध और आक्रोश साफ देखने को आ रहा है. चिराग पासवान ने अपने पिता का वीडियो पोस्ट किया है। रामविलास पासवान ने संसद में एक कविता कही थी। चिराग ने ट्वीट कर लिखा है जुल्म मत करो.

ज़ुल्म करो मत
ज़ुल्म सहो मत ।।।
जीना है तो मरना सीखो
कदम पर लड़ना सिखों।।।

वोह लड़ रहे हैं हमपर राज करने के लिए
हम लड़ रहे हैं खुद पर नाज़ करने के लिए।

चिराग पासवन ने साफ तौर पर नीतीश कुमार के खिलाफ में यह ट्वीट किया है. चिराग ने कहा है कि अब नीतीश कुमार से लड़ने का वक्त आ गया है और अब बिहार को बर्बाद होते हुए नहीं देख सकता। राज किये जाने के लिए निर्णय लेना होता है और अगर मै नीतीश के साथ रहता तो खुद को माफ़ नहीं कर सकता। बिहार को संवारना है और फिर बिहार पर नाज करना है. चिराग ने नीतीश को नहीं लाने की ठान ली है। वहीँ चुनाव के पहले एक के बाद भाजपा के सदस्यों को लोजपा को शामिल कर चिराग झटका दे रहे थे. विधानसभा सीट के प्रमुख चेहरों को शामिल कर वे चुनावी मैदान में भी टक्कर देने की पूरी तैयारी कर चुके हैं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here