बिहार में तय समय पर चुनाव कराने के पक्ष में नहीं है चिराग पासवान, चुनाव आयोग से किया यह अनुरोध

0
193

इस बिहार में होने वाले विधानसभा चुनाव को लेकर राजनीति पूरी तरह से तेज हो गई है. सरकार बिहार में विधानसभा का चुनाव कराना चाह रही है तो वहीं बिहार में विपक्ष के साथ ही एनडीए के साथ लोजपा इस कोरोना काल में विधानसभा चुनाव कराने के मुड में नहीं है. हालांकि चुनाव आयोग ने साफ साफ कह दिया है कि चुनाव तय समय पर होगा. ऐसे में विपक्ष लगातार कोरोना काल का हवाला दे रही है. बिहार में तय समय पर चुनाव नहीं कराने को लेकर पटना हाई कोर्ठ में पीआईएल दायर भी किया जा चुका है.

बिहार में इस साल तय समय पर चुनाव कराने को लेकर बिहार में विपक्ष लगातार सरकार पर हमलावर रही है. जाप प्रमुख पप्पू यादव ने चुनाव रोकवाने के लिए कोट तक जाने की बात कही है. वहीं तेजस्वी यादव सरकार की नाकामियों को गिनाते हुए कहते हैं कोरोना काल में हुई गड़बड़ी के चलते सरकार अभी चुनाव कराना चाह रही है. वहीं एनडीए के साथ लोजपा भी तय समय पर चुनाव कराना नहीं चाह रहे हैं. लोजपा सुप्रीमो चिराग पासवान ने कहा है कि चुनाव आयोग को भी इस विषय पर सोच कर निर्णय लेना चाहिए. कहीं ऐसा ना हो की चुनाव के कारण एक बड़ी आबादी को खतरे में झोंक दिया जाए. इस महामारी के बीच चुनाव होने पर पोलिंग पर्सेंटेज भी काफी नीचे रह सकते है जो लोकतंत्र के लिए ठीक नहीं है.

बिहार में विधानसभा चुनाव को लेकर राजनीति पूरी तरह से गरमा गई है. राजग के साथी लोजपा अब अपने गठबंधन के सुर से अलग सुर मिला रहे हैं. तय समय पर चुनाव कराने को लेकर लोजपा उनके साथ नहीं दिख रही है. वह विपक्ष के साथ लगातार बयान दे रहे हैं. वहीं तेजस्वी यादव ने तो यह कह दिया है कि बिहार में कोरोना संकट के बीच चुनाव कराना ठीक नहीं है. ऐसे में नीतीश कुमार बिहार में लाशों के ढेर पर चुनाव कराना चाहते हैं. नीतीश को डर है कि बिहार में कही राष्ट्रपति शासन न लग जाए. लेकिन आरजेडी को बिहार की जनता की चिंता है. इसलिए बिहार में कोरोना संकट के बीच चुनाव कराना ठीक नहीं है.

लेकिन बिहार में विधानसभा का चुनाव कराने का आखिरी फैसला चुनाव आयोग को करना है कि वे क्या करता है. हां ये सही है कि वह बिहार की सभी राजनीतिक पार्टियों से मत जरूर ले सकती है. और पिछले दिनों आयोग और पार्टियों के साथ बैठक हुई है जिसमें कई बिंदुओं पर बात भी हुई है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here