प्रवासी मजदूरों से बात कर निजी कंपनियों से नाराज हुए CM नीतीश, कहा- बिहार में बहुत काम है

0
547

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार इनदिनों क्वारंटाइन सेंटर में रहरहे श्रमिकों से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से बात कर रहे हैं. वे श्रमिकों से हालचाल जान रहे हैं. नीतीश कुमार उस समय निजी कंपनियों पर बिफर गए जब श्रमिकों ने अपनी आप बीती सुनाई. उसके बाद नीतीश कुमार ने कहा कि श्रमिकों का निजी कंपनियों ने ख्याल नहीं रखा है. उन्होंने कहा कि उनका दायित्व बनता था कि वे बाहर से आए लोगों के साथ खड़ा रहे. उन्होंने साफ साफ कहा कि हमारी इच्छा है कि बिहार में ही सभी को रोजगार मिले. किसी कारण के बिहार से बाहर जाने की कोई जरूरत न पड़े.

आपको बता दें कि सीएम नीतीश कुमार इन दिनों प्रदेश के आठ जिलों में 16 क्वारंटाइन सेंटर पर प्रवासी श्रमिकों से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से बात कर रहे हैं. उन्होंने लगातार तीन दिन तक वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से बात की है. साथ ही वहां की स्थिति के बारे में भी लोगों से जाना है. उन्होंने उद्योगपतियों से आवाह्न किया है कि बिहार में अब आप लोग रोजगार लगाए. यहां असीम संभावनाएं हैं. बिाहर में कपड़ा, जुता, बैग, फर्निचर, साइकिल आदि से जुड़ें उद्योगों की असीम संभावनाएं हैं. हमारे पास इन सभी चीजों का बड़ा बाजार हैं.

सीएम नीतीश कुमार ने प्रवासी मजदूरों से साफ साफ कहा है कि यहीं रहिए और काम कीजिए. सभी को स्किल के अनुरूप काम मिलेगा. बिहार में कोई भी भूख से नहीं मरता. उन्होंने अधिकारियों कहा कि क्वारंटाइन सेंटर में रह रहें प्रवासीयों का पूर्ण सर्व किया जाए जिससे की यह साफ साफ हो सके कि कौन कहां से आए हैं और किसमें किस तरह का हुनर है. आपको बता दें कि बिहार सरकार एक ऐसा एप बनने जा रही है जिसके बाद से यह पता चल जाएगा कि किसको कौन सा काम आता है उसके हिसाब से उनको मैसेज भेज दिया जाएगा.

स्त्रोतः-https://www.jagran.com/bihar/patna-city-bihar-cm-nitish-kumar-angry-with-private-companies-said-they-did-not-take-care-our-people-20306445.html

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here