अब बिहार में व्यावसायिक वाहन चलेंगे सीएनजी से

0
256

बिहार में ठंढ़ के साथ वायू में प्रदुषण की मात्रा बढ़ जाती है. लोगों को सांस लेने में परेशानी होने लगती है हालहीं में आए एक रिपोर्ट के अनुसार पटना में पीएम 2.5 की मात्रा आंकी गई है. ऐसे में बिहार सरकार ने फैसला किया है कि सभी वाणिज्यिक वाहनों को सीएनजी में परिवर्तित किया जाएगा। इसकी शुरुआत पटना से की जाएगी। राज्य परिवहन विभाग के अनुसार, बिहार में पंजीकृत वाहनों की संख्या 11 वर्षों में 6.5 गुना से  950,120 मिलीग्राम  तक बढ़ गई. जिस कारण प्रदूषण तेजी से बढ़ रहा है.

इधर, बिहार राज्य प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड का आरोप है कि गाड़ियों के उत्सर्जन, घरेलू ईंधन जलाने, खुले में कचरे को जलाने, निर्माण, औद्योगिक उत्सर्जन और सड़क की धूल की वजह से प्रदूषण बढ़ रहा है.

परिवहन विभाग के अधिकारियों का कहना है कि पटना में सभी प्राइवेट वाहनों के मालिकों को सलाह दी गई है कि वे वायु प्रदूषण को कम रखने के लिए सीएनजी का इस्तेमाल करें.

आईक्यू एयर, एयर विजुअल और ग्रीनपीस द्वारा जारी कि गई 2018 वर्ल्ड एयर क्वालिटी रिपोर्ट के अनुसार, राज्य की राजधानी पटना को दुनिया का सातवां सबसे प्रदूषित शहर बताया है, जहां पीएम 2.5 119.7 मिलीग्राम रिकॉर्ड किया गया है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here