कोरोना का कहरः जनता कर्फ्यू को लेकर रेलवे ने बंद किए इतने हजार ट्रेन

0
387

भारत में कोरोना को प्रभाव को देखते हुए पीएम नरेंद्र मोदी ने 22 मार्च यानी की रविवार को देश में जनता कर्फ्यू के पालन करने की बात कही है. कोरोना के प्रभाव को देखते हुए रेलवे ने बड़ा फैसला लिया है. रेल मंत्रालय ने जारी सूचना में कहा है कि शनिवार रात 12 बजे से रविवार रात 10 बजे के बीच देश में रेल यातायात को पूरी तरह से बंद रखने का निर्णय लिया है. मंत्रालय ने कहा है कि जो ट्रेन रास्ते में हैं उन्हें स्टेशन पर रोक लिया जाएगा. और उन यात्रियों को प्रतीक्षालयों में ऱखा जाएगा.

कोरोना वायरस के बढ़ते प्रभाव को देखते हुए रेल मंत्रालय ने दिशा निर्देश जारी कर दिया है जिसमें उन्होंने कहा है कि 21-22 मार्च को कोई भी ट्रेन नहीं चलाएगा. इस दो दिन ट्रेनों पर लगने वाले रोक से देश में 2400 पैसेंजर ट्रेने तथा 1300 मेल, एक्सप्रेस ट्रेने नहीं चलेंगी. रेलवे ने कहा है कि इस दो दिनों तक की रद्द ट्रेनों के टिकट को कैंसिल माना जाएगा. उसका पूरा पैसा यात्रियों को वापस कर दिया जाएगा.

अगर जो ट्रेने अपने निर्धारित स्थान के लिए प्रस्थान कर चुकी है और इन दो दिनों तक रास्ते में रह जाती है तो ऐसे में स्टेशन के प्रतिक्षालयों में, मुख्य हॉल में थोड़ी-थोड़ी जगह बनाकर रखा जाएगा. इस पूरे मामले पर जोनल अधिकारी ने कहा है कि इस दौरान वे स्टेशनों की स्थिति पर बारीक नजर रखे तथा सुनिश्चित करें कि यात्रियों को किसी प्रकार की असुविधा न होने पाए और नहीं किसी प्रकार की कोई विषम स्थिति पैदा हो. रेलवे यात्रियों के खान पान को ध्यान में रखते हुए प्रबंधन ने कहा है कि फूड प्लाजा, रिफ्रेशमेंट रूम, जन आहार, शेल किचन तथा अन्य दुकाने इन रुके हुए यात्रियों को खाना- पानी और जरूरी चीजें मुहैया कराने के लिए केवल 22 मार्च रात 10 बजे तक खुली रहेंगी. उसके बाद अनिश्चित काल के लिए बंद कर दिया जाएगा. मांग होने पर चाय और कॉफी तथा पैकेटबंद आइटम बेचने की अनुमति दी होगी.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here