डिजिटल इंडिया का कमाल, भारतीय रेलवे ने यात्री का खोया बैग ट्वीट की मदद से उस तक पहुंचाया.

0
636

आपने भारतीय रेलमंत्री पीयूष गोयल को ट्वीटस के जरिये बहुत सारे यात्रियों को मदद करते हुए जरुर सुना होगा. इसी कड़ी में उनकी रेल सेवा केंद्र ने एक यात्री का खोया हुआ बैग उस तक पहुँचाने का काम किया है. उस व्यक्ति ने अपनी कहानी ट्वीटर पर पोस्ट की और लिखा कि मैंने सुना था की भारतीय रेलवे अब काफी बदल चुकी है और सरकारी बाबुओं का जमाना नहीं रहा लेकिन मेरा उनसब बातों पर विश्वास करना मुश्किल था. लेकिन एक दिन जब मैंने अपने सफ़र के दौरान ट्रेन नंबर 22691 में नागपुर स्टेशन पर अपना बैग खो दिया, तो मैं काफी हतास हो गया क्यूंकि उस बैग में मेरी काफी महत्वपूर्ण वस्तुएं थी.

मैंने हतास होकर रेलमंत्री पीयूष गोयल को टैग करके अपनी बैग खोने का पोस्ट ट्वीटर पर पोस्ट किया. मुझे विश्वास नहीं हुआ जब रेल मंत्रालय की तरफ से मेरे ट्वीट का जवाब कुछ ही मिनटो में दे दिया गया. ट्वीट में मुझसे मेरे यात्रा का पूरा डिटेल माँगा गया. मैंने अपना सारा डिटेल्स रेलवे सेवा ट्वीटर हैंडल को टैग करके पोस्ट कर दिया. मेरे कंप्लेंन के कुछ ही मिनट्स के बाद मुझे रेलवे के तीन अलग-अलग विभागों से रेस्पोंस प्राप्त हुए.

मैंने बचपन से सरकारी बाबुओं की लेटलतीफी के बारे में सुना था लेकिन इस नए डिजिटल भारत को देखकर मैं काफी उत्साहित हो रहा था. मेरे कंप्लेंन के 3.30 घंटे के अंदर मुझे सीनियर DSC,RPF भोपाल के द्वारा यह सुचना प्राप्त हुई कि मेरा बैग खोज लिया गया है.

जिस तरह की सर्विस मुझे प्राप्त हुई मैं उससे काफी खुश और संतुष्ट हुआ. यह व्यवस्था भारत की चली आ रही पुरानी सरकारी व्यस्था के काफी उलट और प्रभावशाली है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here