बिहार में रावण दहन पर सियासी पारा चढ़ा, दलगत राजनीती हुई तल्ख़

0
316

एक बार फिर भाजपा-जदयू के बीच की दलगत राजनीती हुई तल्ख़. दलों के भीतर ही देखने को मिल रहा है आरोप प्रत्यारोप का दौर. कल दशहरा के उपलक्ष्य पर पटना के गाँधी मैदान में आयोजित रावण दहन के दौरान भाजपा नेताओ का मौके पर मौजूद नहीं होने से राजनितिक गालियों में हलचल शुरू हो गयी है. दरअसल दशहरा के मौके पर आयोजित कार्यक्रम में जदयू के नेता तो उपस्थित थे ही कांग्रेस के कुछ नेता भी अपनी मौजूदगी दर्ज की थी. लेकिन भाजपा के एक भी नेता ने कार्यक्रम में हिस्सा नहीं लिया. जिसके पश्चात् कयासों के दौर शुरू हो गए.

आपको बता दे कार्यक्रम में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार बिहार विधानसभा के स्पीकर विजय कुमार चौधरी और प्रदेश कांग्रेस अध्‍यक्ष मदन मोहन झा शामिल हुए थे वहीं राज्यपाल फागू चौहान कार्यक्रम का उद्घाटन करने वाले थे मगर वो कार्यक्रम में अनुपस्थित रहे साथ ही साथ भारतीय जनता पार्टी के नेता और उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी भी कार्यक्रम का हिस्सा नहीं बने. मंच पर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के बगल में कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष बैठे दिखाई दिए, जबकि आम तौर पर उनके बगल में उपमुख्‍मंत्री सुशील मोदी बैठते रहे हैं. इसपर जदयू ने अपनी प्रतिक्रिया दी है.

ज्ञात हो दोनों पार्टियों के बीच पहले से ही खट्टास देखने हो मिल रही है. हाल ही में बिहार में हुए भारी बारिश ने पटना का हाल बेहाल कर दिया था. ऐसे में विपक्षी नेताओ के साथसाथ सहयोगी पार्टी भी बढ़चढ़ कर जदयू का विरोध करने लगी थी. मौकापरस्त पार्टियों ने एक भी मौका नहीं छोड़ा था आरोप प्रत्यारोप मढने का. जिसके बाद दोनों सहयोगी दलों के संबंधो में दरार आने लगी थी.

अब जब जदयू के पाले में आरोप लगाने का मौका आया है तो जनता दल यूनाइटेड भी कैसे पीछे रहती. जदयू नेता अजय अलोक ने भाजपा नेताओ पर निशाना साधते हुए पूछा है कि क्या हुआ भाजपा वालो?कोई गाँधी मैदान में रावण वध के लिए आया नहीं?रावण वध नहीं करना था क्या? वहीं जदयू प्रवक्ता राजीव रंजन ने बताया की उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी इस वक्त पटना में मौजूद नहीं है वहीं रवि शंकर प्रसाद ने पहले ही कह दिया था की वो इस साल दशहरा नहीं माना पायेंगे. इसके साथ ही उन्होंने बाकी भाजपा नेताओ से उनके गैरहाजिरी की वजह बताने की मांग की है.

सबसे ज्यादा चौकाने वाला वाकया तब हुआ जब उद्घतानकर्ता राज्यपाल फागू चौहान कार्यक्रम में शिरकत नहीं हुए. उनकी गैर मौजूदगी में कार्यक्रम का उद्घाटन मुख्यमंत्री नितीश कुमार ने ही किया.

वहीं भाजपा ने अपनी गैरमौजूदगी पर सफाई देते हुए पटना के दीघा से बीजेपी विधायक संजीव चौरसिया ने बताया कि पटना जलजमाव से परेशान है, जल निकासी के काम में व्यस्त होने के कारण वह कार्यक्रम में नहीं आ सके. साथ ही भाजपा नेता संजय टाइगर ने भाजपा का पक्ष रखते हुए कहा की नितीश और हम एक ही पार्टी है, कार्यक्रम में नीतीश कुमार पहुंचे तो समझिये पूरा एनडीए पहुंच गया.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here