दिवाली के दिन मरीज न निकले घऱ से हो सकती है ये परेशानी

0
412

दीपावली के दिन पटना में प्रदूषण खतरनाक स्तर पर पहुंच जाता है. ऐसे में दमा और अस्थमा के मरीज को विशेष रुप से सावधान रहने की जरूरत है. इस दिन पटाखों से निकलने वाले धुओं की मात्रा बहुत अधिक होती है.


वहीं डॉ. की माने तो दमा, अस्थमा और सांस की बीमारे वाले मरीजों को दिवाली के दिन ज्यादा सतर्क रहने की जरूरत है. धूल-धूएं से दूर रहें. वैसे लोग जिन्हें सांस लेने में परेशानी है वे घऱ में ही रहे. अगर घर से बाहर निकलने की जरूरत है तो एन-95 मास्क लगाकर ही बाहर निकले. अगर सांस संबंधी को परेशानी हो रही है तो डॉ. के सलाह पर दवा ले सकते है.
नेत्र रोग से संबंधित डॉ. का कहना है कि हर साल बिहार में 50 लोगों की आंखों की रोशनी चली जाती है, जबकि सौ से अधिक लोगों की आंखें गंभीर रुप से प्रभावित हो जाती है. गांवों में अधिक हादसे होते हैं.
पिछले दिनों पटना में पीएम 2.5 के कण पाए जाने की बात कही थी. पटना समेत 20 शहरों में पीएम 2.5 के कण पाए गए थे.

वर्ष 2017 में पटना में दीपावली के दूसरे दिन पीएम2.5 की मात्रा 626 माइक्रोग्राम रिकॉर्ड किया गया था. बीते साल पटना की हवा में प्रदूषण की मात्रा पीएम2.5 का स्तर 667 माइक्रोग्राम रिकॉर्ड हुआ था, जो सामान्य से करीब 12 गुना अधिक रहा.

पूर्व के वर्षों में वायु प्रदूषण के साथ ध्वनि प्रदूषण में भी मानक से कई गुना अधिकता पाई गई थी. सुबह 6.00 बजे से रात 10.00 बजे तक सल्फर डाईऑक्साइड की मात्रा अधिक पाई गई है. नाइट्रोजन डाईऑक्साइड 142.41 पाई गई थी, जबकि मानक प्रति घनमीटर 80 माइक्रोग्राम से अधिक नहीं होनी चाहिए. गत वर्ष ध्वनि प्रदूषण के मामले में भी राजधानी ने रिकॉर्ड तोड़ा. दिवाली की रात प्रदूषण का स्तर 80.4 डेसिबल था.
दीपावली में हम पटाखों से बचे

पटाखों के कारण आंख की पलकें गायब हो सकती हैं. पुतली फट सकती है, आंख बाहर आ सकती है, आंख फट सकती है. ऐसी स्थिति में नेत्र सर्जन को दिखाएं. घरेलू उपाय किए तो जिन्दगी भर के लिए आंखों से हाथ धोना पड़ सकता है. तेज आवाज से कान को भी बचाकर रखें. तीव्र ध्वनि वाले पटाखों से बचकर रहें.

जहरीले गैस से बचें
पटाखों के फूटने से फास्फोरस, सल्फर, पोटाशियम क्लोरेटकैसी विषैली गैसें निकलती हैं, जो आंखों के लिए हानिकारक हैं। पटाखों के फटने से निकलने वाला तेज प्रकाश आंखों की नाजुक पुतलियों को नुकसान पहुंचा सकता है। पटाखों का तेज धुंआ और रोशनी लग जाए तो सबसे पहले आंख को अच्छी तरह धोना चाहिए.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here