अच्छी खबरः बिहार में प्लाज्मा डोनेट करने वालों को एक साल मुफ्त इलाज करेंगे डॉक्टर

0
70

बिहार में कोरोना मरीजों की संख्या में तेजी से इजाफा हो रहा है. कोरोना संक्रमितों के लिए प्लाज्मा देने वालों यानी डोनर का हौसला बढ़ाने और प्रोत्साहन के लिए बिहार के कई वरीय डॉक्टर आगे आए हैं. इन डॉक्टरों ने प्लाज्मा देने वाले कोरोना योद्धाओं का एक साल तक मुफ्त इलाज करने की घोषणा की गई है.

राज्य के सभी जिले के डॉक्टरों ने पैनल बनाकर ऐसे दानदाताओं का मुफ्त इलाज करने की घोषणा की. पैनल में पटना, वैशाली, आरा, बक्सर, दरभंगा, मुजफ्फरपुर, भागलपुर, बेगूसराय, समस्तीपुर, मधुबनी समेत सभी जिले के सीनियर डॉक्टर शामिल हैं. इन डॉक्टरों में सामान्य मेडिसीन, डायबिटीज, हृदय रोग, किडनी रोग, न्यूरोफिजिशयन, सर्जन, हड्डी रोग, चर्म रोग, दंत रोग विशेषज्ञ तक शामिल हैं.

इस पैनल के संयोजक डॉ. विकास शंकर ने बताया कि स्वस्थ हो चुके संक्रमितों के प्लाज्मा से कोरोना के गंभीर मरीजों के इलाज में मदद मिलती है. ऐसे में जितने ज्यादा लोग प्लाज्मा देंगे, उतने मरीज के इलाज में मदद मिलेगी. ज्यादा से ज्यादा लोग प्लाज्मा दान करने के लिए आगे आएं, इसलिए डॉक्टरों ने अपनी तरफ से पहल की है. डोनर को साथ में सिर्फ जिला प्रशासन अथवा अस्पताल से मिला प्रशस्ति पत्र या सर्टिफिकेट अपने साथ लाना होगा.

पटना जिला में जिन डॉक्टरों ने अपनी सहमती दी है उनमें न्यूरो फिजिशयन डॉ. अशोक कुमार सिंह, मन:चिकित्सक डॉ. राकेश कुमार सिंह, डॉ. सौरभ सिंह, चर्म रोग विशेषज्ञ डॉ. अमरकांत झा अमर, डॉ. विकास शंकर, गायनी में डॉ. कुमुद रंज, डॉ. ज्योति कुमारी, हृदय रोग विशेषज्ञ डॉ. विरेंद्र प्रसाद सिन्हा, डॉ. राजीवकृष्णा, हड्डी विशेषज्ञ डॉ. कौशलेंद्र कुमार, डॉ. राजीव राय, आंख के डॉ. सत्यप्रकाश तिवारी, उत्कर्ष भारद्वाज, यूरोलॉजी के डॉ. राजेश रंजन, शिशु रोग केडॉ. राकेश कुमार शर्मा, दंत रोग के डॉ. वैभव शांडिल्य, फिजिशयन शरद नंदन, नौबतपुर के डॉ. संजीव कुमार, बाढ़ के डॉ. पंकज आदि शामिल हैं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here