चुनाव आयोग का सियासी दलों के साथ बैठक हुई समाप्त, JDU ने भीड़ तो RJD ने पारदर्शिता पर उठाए सवाल

0
144

बिहार में विधानसभा चुनाव को लेकर अब राजनीति पूरी तरह से तेज हो गई है. चुनाव आयोग के साथ ही अब राजनीतिक पार्टियों ने कमर कस लिया है. बिहार में विधानसभा चुनाव की घोषणा हो गई है. निर्वाचन आयोग की टीम बिहार में राजनीतिक पार्टियों के साथ बैठक की और सभी पार्टियों की राय जानी. इस दौरान बिहार राजनीतिक पार्टियो की तरफ से जदयू और राजद के प्रतिनिधि शामिल हुए. उसमें जदयू की तरफ से जदयू के कार्यकारी अध्यक्ष अशोक चौधरी, ललन सिंह, संजय झा मौजूद रहे.

आपको बता दें कि इस बैठक में जदयू की तरफ से बैठक में पार्टी के कार्यकारी अध्यक्ष अशोक चौधरी ने कहा की चुनावी सभाओं में सीमित भीड़ को लेकर राजनीतिक पार्टियों में संशय है. जहां पर सभा होनी है वहां अगर ज्यादा भीड़ हो जाती है तो उसे कैसे रोका जाएगा, वहीं दूसरी मांग यह थी 80 साल से ज्यादा बुजुर्गों को बैलेट पेपर से चुनाव के लिए 12 d का फॉर्म भरना है. जदयू ने इस दौरान मांग करते हुए कहा कि चुनाव आयोग के कर्मचारी खुद घऱ जाकर बुजुर्गों से ये फार्म भरवाए ताकि ज्यादा से ज्यादा मतदान हो सके.

इस बैठक में शामिल हुए राजद सांसद मनोज झा ने कहा है कि सुबह 7 बजे से शाम 7 बजे तक 12 घंटे करने की मांग की मनोज झा ने कहा कि इस विधानसभा चुनाव में कई अधिकारियों के व्यक्तिगत संबंध सत्ताधारी दल से हैं, ऐसे में उन सारे अधिकारियों पर कड़ी नजर रखने की जरूरत है ताकि निष्पक्षता के साथ चुनाव कराया जाए. उन्होंने कहा की प्रचार के दौरान अचानक ज्यादा भीड़ पहुंचने पर पार्टियों पर मुकदमा दर्ज अगर होता है तो यह ठीक नहीं होगा.

इस दौरान कांग्रेस नेता ब्रजेश मनन ने कहा कि हर 10 बूथ पर एक मेडिकल टीम हो, वहीं लोजपा ने मांग रते हुए कहा कि पंचायत स्तर के चुनाव की तरह 500 लोगों पर एक बूथ बनाई जाए ताकि ज्यादा मतदान हो सके

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here