चुनाव आयोग ने बिहार विधानसभा चुनाव को लेकर जारी की नई गाइडलाइन, दिव्यांग और 80 साल से अधिक उम्र के लोग कर सकेंगे पोस्टल बैलट

0
62

बिहार में इस साल होने वाले विधानसभा चुनाव को लेकर सुगबुगाहट अब तेज हो गई है. निर्वाचन आयोग ने बिहार विधानसभा चुनाव और कुछ दिनों में होने वाले उपचुनाव को लेकर नई गाइडलाइन जारी की है. जिसमें आयोग ने बताया है कि दिव्यांग मतदाताओं और 80 साल से अधिक उम्र के लोग पोस्टल बैलेट का इस्तेमाल कर सकते हैं. इसके साथ ही आयोग ने यह भी कहा है कि अनिवार्य सेवाओं में कार्यरत कर्मचारियों एंव कोरोना संक्रमित मरीजों के लिए भी यह सुविधा उपलब्ध होगी.

आयोग की तरफ से जारी गाइडलाइन में यह बताया गया है कि चुनाव संबंधी सभी कामकाज के दौरान कोरोना से बचाव के उपायों को अपनाना होगा. चुनावी गतिविधि के दौरान हर व्यक्ति के लिए मास्क पहनना जरूरी है. मतदान केंद्रों में आने वाले लोगों की थर्मल स्कैनिंग होगी. चुनावी प्रक्रिया में भाग लेने वाले लोगों के लिए सैनिटाइजर और साबुन उपलब्ध कराए जाएंगे. इसके साथ ही लोगों को सोशल डिस्टेंसिंग का पालन भी करना होगा.

उम्मीदवारों के लिए जारी गाइडलाइन में बताया गया है कि उम्मीदवारों को ऑनलाइन माध्यम से नॉमिनेशन करना होगा. उम्मीदवारों को सिक्योरिटी मनी और चुनावी घोषणा पत्र भी ऑनलाइन जमा करना ोहगा. मतदातोँ को कतार में इंतजार ना करना पड़े इलिए उनहें पहले आओ-पहले पाओं के आधार पर टोकन दिया जाएगा. सोशल डिस्टेंशिंग का पालन करने के लिए जमीन पर निशान बनाए जाएंगे. दो मतदाओं के बीच में छः फिट की दूरी होगी. बताया यह भी गया है कि महिला और पुरुष मतदादाओं के लिए अलग वेटिंग एरिया भी बनाए जाएंगे.

आयोग की तरफ से बताया गया है कि मतदाताओं को ईवीएम पर मतदान करने के ल‍िए डिस्‍पोजेबल ग्‍लोब्‍स मुहैया कराए जाएंगे. मतदान कराने वाले अधिकारियों को पीपीई किट भी उपलब्‍ध कराए जाएंगे. क्‍वारंटाइन किए गए कोरोना मरीजों को सबसे आखिरी घंटे में मतदान करने की इजाजत होगी.

कंटेनमेंट जोनों में रहने वालों के लिए अलग से जारी गाइडलाइन के आधार पर चुनावी प्रक्रिया पूरी कराई जाएगी. बूथों की संख्या बढ़ाई जाएगी. एक बूथ पर अधिकतम 1000 मतदाता होंगे. पहले यह सीमा 1500 मतदाताओं की थी.

चुनाव आयोग ने चुनाव प्रचार के लिए नए नियम बनाए गए हैं इसमें उम्मीदवार के साथ अधिकतम पांच व्यक्तियों के साथ घर-घऱ प्रचार कर सकते हैं. रोड शो के दौरान वाहनों का काफिला 5-5 वाहनों में बंटा होगा. रैलियों की मंजूरी के लिए अलग के प्रावधान तय किए गए हैं. इसके लिए जिला निर्वाचन अधिकारियों को की निर्देश दिए गए हैं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here