कितने नियोजित शिक्षकों पर हुई कार्रवाई, सरकार ने माँगा पूरा रिपोर्ट

0
467

बिहार में लगातार ही शिक्षा व्यस्था को लेकर शिक्षक, विपक्षी पार्टी और सरकार के बीच विरोध, मतभेद और हड़ताल चल रहा है. विपक्षी पार्टी इस मुद्दे को लेकर सरकार को घेरते भी नजर आते हैं.

बिहार में शिक्षा व्यवस्था में तब से और भी अधिक परेशानी आ गई जब से शिक्षकों ने हड़ताल कर असहयोग कर दिया। नियोजित शिक्षक लगातार ही सरकार पर आक्रोश व्यक्त कर रहे हैं. मैट्रिक परीक्षा में तो उन्होंने परीक्षा लेने से इंकार कर दिया था. बिहार की नियोजित शिक्षकों ने मैट्रिक के उत्तर पुस्तिका के मूल्यांकन का भी ब-हिष्कार कर दिया है. सरकार ने कॉपी जाँच का ब-हिष्कार किये जाने वाले शिक्षकों पर का-र्रवाई किये जाने को लेकर प्रतिवेदन माँगा हैं.

इन शिक्षकों पर का-र्रवाई हुई या नहीं हुई अगर नहीं हुई तो किसलिए नहीं हुई. इस मामले में रिपोर्ट मांगी गई है. शिक्षा विभाग के अपर सचिव गिरिवर दयाल सिंह ने सभी जिला शिक्षा पदाधिकारी को पत्र लिखकर कहा है कि मैट्रिक परीक्षा 2020 में उत्तर पुस्तिका के मूल्यांकन में जिन शिक्षकों ने परीक्षक के तौर पर योगदान नहीं दिया है उनके खि-लाफ का-र्रवाई किये जाने को कहा गया था.

इस मामले में तत्काल ही सुचना उपलब्ध कराई जाये। माध्यमिक शिक्षा निदेशालय ने इसके लिए शाम 5:00 बजे तक का समय निर्धारित किया है. उन्होंने यह भी कहा है कि यदि इस मामले में एक्शन नहीं लिया गया है तो विलम्ब के कारणों के साथ ही साथ अपना स्पष्टीकरण भी अवश्य दें. बता दें कि अपर मुख्य सचिव आरके महाजन ने इस मामले में सभी डीईओ को आदेश जारी किया था.
.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here