नियोजित शिक्षकों ने नीतीश सरकार के खिलाफ एक बार फिर से खोला मोर्चा, मनाएंगे अपमान दिवस

0
129

बिहार में नियोजित शिक्षकों ने एक बार फिर से सरकार के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है. नियोजित शिक्षकों ने सरकार के खिलाफ धोखाधड़ी करने का आरोप लगाया है. इधर पंचायत नगर और प्रारंभिक शिक्षको ने आंदोलन का भी ऐलान कर दिया है. इस बावत शिक्षक नेता आनंद कौशल सिंह ने आंदोलन का ऐलान करते हुए कहा कि 5 सिंतबर को पूरे राज्य में शिक्षक अपमान दिवस के तौर पर मनाएंगे.

उन्होंने कहा कि पांच सिंतबर के बाद 12 सिंतबर को राज्य के नियोजित शिक्षक सीएम, डिप्टी सीएम का सभी प्रखंडों में अर्थी जुलूस निकालेंगे वहीं 19 सिंतबर को पूरे राज्य भर में मशाल जुलूस निकालकर विधानसभा और विधान परिषद चुनाव में एनडीए प्रत्याशियों को वोट नहीं देने का संकल्प लिया जाएगा. इसके साथ ही नियोजित शिक्षकों ने चुनाव के दौरान विधानसभा और विधान परिषद चुनाव मे एनडीए के प्रत्याशियों का घेराव करने की भी घोषणा की है.

आपको बता दें कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की अध्यक्षता में कैबिनेट की बैठक में नियोजित शिक्षकों के नई सेवाशर्थ नियमावली को मंजूरी दे दी है. इस सेवा शर्त का फायदा बिहार के साढ़े तीन लाख से अधिक शिक्षकों को होगा. इस सेवा शर्त में 15 फीसदी वृद्धि की बात कही गई है. इसके साथ ही ईपीएफ का भी लाभ मिलेगा. इसके साथ ही स्थानांतर की भी बात कही गई है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here