फर्जी केस मामले में भड़के पूर्व सीएम मांझी , थानाप्रभारी पर लगाया ये आरोप

0
1070

पूरा देश आज SC -ST Act को लेकर बहस कर रहा है। हर तरफ इसको लेकर राजनीति की जा रही है। पिछले दिनों इस एक्ट के विरोध में सवर्णो ने भारत बंद भी किया। लेकिन पिछले दिनों बिहार के गया में एक फर्जी केस का मामला सामने आया जिसके बाद इस मामले को लेकर बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री जीतनराम मांझी भड़क गए है।

file photo

बिहार के पूर्व सीएम जीतन राम मांझी ने पिछले दिनों गया में हुए फर्जी केस मामले में गया के डोभी थानाप्रभारी पर पैसों की वसूली के चक्कर में एक पीड़ित दलित महिला के नाम से एससी-एसटी एक्ट में फर्जी केस दर्ज करवाने के आरोप को लेकर कार्रवाई की मांग की है. हम नेता जीतनराम मांझी ने इस मामले को लेकर हाई लेवल की जांच कराने की मांग कर दी है। उन्होंने इस मामले में एसएसपी को फोन करके पैसे की उगाही के लिए फर्जी तरीके से केस करने का आरोपी लगाते हुए डोभी थानाप्रभारी पर कार्रवाई की मांग की है.

क्या है मामला ?
पिछले दिनों बिहार के गया में एससी-एसटी एक्ट के दुरूपयोग का एक मामला सामने आया है. पिछले 23 अगस्त को डोभी थाना में बीजा टोला की ललिता देवी के आवेदन पर एक ग्रामीण चिकित्सक संजीव कुमार पर इलाज के दौरान रेप करने का मामला दर्ज कराया गया ,इस मामले में डॉक्टर पर एससी एसटी एक्ट भी लगाया गया। लेकिन आवेदनकर्ता ललिता देवी ने पिछले 5 सितम्बर को एसएसपी कार्यालय मे आवेदन देकर डोभी थाना प्रभारी पर फर्जी तरीके से उनके नाम पर गलत केस करने का आरोप लगाया है.
इस घटना के मामले में पूर्व सीएम जीतन राम मांझी ने एसएसपी को फोन करके पैसे की उगाही के लिए फर्जी तरीके से केस करने का आरोप लगाते हुए डोभी थानाप्रभारी पर कार्रवाई की मांग की है. उन्होंने इस घटना की हाईलेवल की जांच करने की मांग की है।

  • 53
  •  
  •  
  •  
  •  
    53
    Shares
Loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here