बिहार पुलिस पर मुंबई में हो सकती है FIR दर्ज, बोले DGP इस कार्रवाई को पूरा देश देख रहा है मर्यादा रखनी चाहिए

0
88

सुशांत सिंह राजपूत मामले में अब आरोप प्रत्यारोप का दौर जारी हो गया है. यह लड़ाई अब मुंबई पुलिस और बिहार पुलिस के बीच में आ गई है. खैर इन सब के बीच में अब महाराष्ट्र सरकार की तरफ से राजनीतिक लाभ लेने की कोशिश की जा रही है. मुंबई में बिहार पुलिस के खिलाफ सरकारी काम में बाधा डालने को लेकर शिकायत दर्ज की गई है. मुंबई पुलिस के इस एक्शन पर बिहार के डीजीपी गुप्तेश्वर पांडेय ने कड़ी आपत्ति जताई है डीजीपी ने साफ कहा है कि इस कार्रवाई को पूरा देश देख रहा है कि मुंबई पुलिस ने जो किया वो कितना घटिया का है. मर्यादा रखनी चाहिए अब हबम लोग सुप्रीम कोर्ट के आदेश का इंतजार कर रहे हैं.

गुप्तेश्वर पांडेय ने यह भी कहा है कि पहले तो चार दिनों तक हमारी टीम जांच में आगे बढ़ी थी, लेकिन मुबंई पुलिस ने असहोयगात्मक रवैया अपनाया. वरीय अधिकारी को सहयोग के लिए चिट्ठी भी लिखी गई लेकिन उल्टा यहां से गए पटना के सिटी एसपी विनय तिवारी को क्वारंटाइन किया गया. ये सभी बातें देश के लोग देख रहे हैं कि मुंबई पुलिस क्या कर रही है.

इधर मंगलवार को महाराष्ट्र करनी सेना ने बांद्रा पुलिस स्टेशन में पटना से जांच के लिए मुंबई गए टीम के सद्स्यों इंस्पेक्टर कैसर यासीन, मनोरंजन भारती, सब इंस्पेक्टर निशांत और दुर्गेश के खिलाफ शिकायत की गई. इनके ऊपर आरोप लगाया गया है कि पटना पुलिस को मुंबई में जाचं करने का कोई अधिकारी नहीं था. दर्ज की गई शिकायत में यह भी कहा गया है कि पटना पुलिस को जीरों एफाईआर दर्ज कर केस मुंबई पुलि को ट्रांसफर कर देना चाहिए था.

अब इधर मुंबई के न्यू पनवेल निवासी शिकायतकर्ता अजय सिंह सेंगर ने पटना टीम पर आरोप लगाते हुए कहा है कि सरकारी काम में बाधा डाली गई है. और इसके साथ ही मुंबई पुलिस की छवि धूमिल किया गया है. उन्होंने बिहार पुलिस की टीम के खिलाफ एफआईआर दर्ज किए जाने की बात कही है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here