बिहार में बाढ़ का कहर जारी, बूढ़ी गंडक और बागमती खतरे के निशान से ऊपर, दरभंगा में लोगों को सता रहा है डर

0
117

बिहार में मानसून सक्रिय होने के बाद से बिहार में लगातार बारिश हो रही है. उधर नेपाल से पानी छोड़े जाने के बाद से बिहार में कई नदियां खतरे के निशान से ऊपर बह रही है. इधर बूढ़ी गंडक और बागमती नदी में पानी कम होने के बाद भी नदियां खतरे के निशान से ऊपर बह रही है. इन नदियों ने मुजफ्फरपुर और दरभंगा में सबसे ज्यादा तबाही मचाई है. लोग बाढ़ से बचने के लिए नेशनल हाइवे का शरण ले रहे हैं.

मुजफ्फरपुर में बूढ़ी गंडक नदी ने सबसे ज्यादा तबाही मचाई है. यहां बाढ़ के पानी का जस्तर कम हुआ है लेकिन खतरा अभी भी बना हुआ है. इधर बागमती नदी के जलस्तर में भी लगातार वृद्धि हो रही है. और यह नदी भी खतरे के निशान से ऊपर बह रही है. बूढ़ी गंडक के पानी से तिरहुत नहर टूटने के बाद सकरा व मुरौल के सैकड़ों लोगों ने एनएच 28 पर शरण ले रखा है. यहां प्रभावित गांव में पानी कम हो रहा है.

अब इधर दरभंगा में बागमती नदी के जलस्तर में थोड़ी कमी आई है. लेकिन यह अभी भी खतरे के निशान से ऊपर बह रही है. दरभंगा में अधवारा नदी भी खतरे के निशान से ऊपर बह रही है. इसी जिले में कमला नदी खतरे के निशान से नीचे बह रही है. दरभंगा शहर में लोगों के मन में एक डर समा गया है. लोगों को अबबाढ़ का पानी देखकर डर लग रहा है. शहर के कई इलाकों में बाढ़ का पानी घुस गया है. यहां पर सरकारी लापरवाही भी देखने को मिल रहा है. सरकार की तरफ से अभी तक किसी भी सरकारी नाव की व्यवस्था नहीं की गई है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here