अब बाढ़ प्रभावित इलाकों में हेलीकॉप्टर से दिए जाएंगे फूड पैकेट्स

0
288

उत्तर बिहार और नेपाल में हुई बारिश की वजह से उत्तरी बिहार के 10 जिले बाढ़ की चपेट में आ गएहैं. जिससे करीब 8 लाख लोग प्रभावित हुए हैं. बाढ़ से प्रभावित लोगों के लिए राहत बचाब कार्य जारी है. इन इलाकों में कुछ ऐसी भी जगहें हैं जहां राहत एवं वचाब का कार्य नहीं पहुंच पा रहा है. ऐसी जगहों के लिए हेलकॉप्टर से फूड पैकेट्स पहुंचाए जाएंगे. इसको लेकर राज्य सरकार ने गृह मंत्रालय से हेलीकॉप्टर की मांग की है.

इधर आपदा प्रबंधन विभाग के अपर सचिव रामचंद्रुडु ने कहा कि एनडीआरएफ और एसडीआरएफ की टीम सभी प्रभावित इलाकों में तैनात है और आवश्यकतानुसार लोगों को सुरक्षित जगह पर पहुंचाया जा रहा है. विभिन्न जिलों में 192 सामुदायिक किचेन बनाए गए हैं, जहां से 81 हजार लोगों को भोजन उपलब्ध कराया जा रहा है. 28 जगहों पर राहत शिविर भी लगाए गए हैं.

इस बार गंडक नदी सबसे ज्यादा उफान पर रही है. गंडक नदी के कारण जन जीवन पूरी तरह से अस्त व्यस्त हो गया है. नेपाल ने गंडक नदी में चार लाख 36 हजार घनसेक पानी छोड़ा तो सारण और चम्परण तटबंध तीन जगह टूट गये. इसके अलावा कई जगहों पर पानी बांध के ऊपर से बहने लगा. हालांकि शुक्रवार को बाल्मीकीनगर बराज पर गंडक का डिस्चार्ज घटकर दो लाख 42 हजार घनसेक आ गया है. बताया जा रहा है कि दो दिन में पानी उतर जाएगा.

जल संसाधन मंत्री संजय कुमार झा, विभाग के सचिव संजीव हंस और आपदा प्रबंधन विभाग के प्रधान सचिव प्रत्यय अमृत ने शुक्रवार को हवाई सर्वे का स्थिति की जानकारी ली. लौटने के बाद श्री झा ने बताया कि मौसम की खराबी के कारण हमलोग नीचे उतर नहीं पाये, लेकिन इतना जरूर दिखा कि गंडक ने इस बार नया रिकार्ड बनाया है. जान- माल की क्षति नहीं हुई है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here