भारत चीन के बीच चल रहे गतिरोध के बीच पूर्व PM मनमोहन सिंह ने PM मोदी को दी नसीहत कही यह बड़ी बात

0
485

भारत चीन सीमा पर जारी गतिरोध के बीच में देश के पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने कहा है कि गलवान घाटी में भारत के 20 सैनिकों की शहादत व्यर्थ नहीं जाना चाहिए. इसके साथ ही मनमोहन सिंह ने पीएम नरेंद्र मोदी पर हमला बोलते हुए कहा है कि उन्हें चीन के साथ बोलते हुए अपने शब्दों के चयन में सावधान होने की बात कही है.

भारत चीन के बीच चल रही सीमा पर गतिरोधके बीच में पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने कहा है कि 15-16 जून को गलवान घाटी में भारत के 20 साहसी जवानों ने सर्वोच्च कुर्बानी दी. इन बहादुर सैनिकों ने साहस के साथ अपना कर्तव्य निभाते हुए देश के लिए अपने प्राण न्यौछावर कर दिए. देश के इन सपूतों ने अपनी अंतिम सांस तक मातृभूमि की रक्षा की. इस सर्वोच्च त्याग के लिए हम इन साहसी सैनिकों और उनके परिवारों के कृतज्ञ हैं. लेकिन उनका यह बलिदान व्यर्थ नहीं जाना चाहिए.

मनमोहन सिंह ने आगे बोलते हुए कहा है कि आज हम इतिहास के एक नाजुक मोड़ पर खड़े हैं. हमारी सरकार के निर्णय एवं सरकार द्वारा उठाए गए कदम तय करेंगे कि भविष्य की पीढ़ियां हमारा आकलन कैसे करें। जो देश का नेतृत्व कर रहे हैं, उनके कंधों पर कर्तव्य का गहन दायित्व है. हमारे प्रजातंत्र में यह दायित्व देश के प्रधानमंत्री का है. प्रधानमंत्री को अपने शब्दों और ऐलानों द्वारा देश की सुरक्षा एवं सामरिक तथा भूभागीय हितों पर पड़ने वाले प्रभाव के प्रति सदैव बेहद सावधान होना चाहिए.

स्त्रोतः-https://navbharattimes.indiatimes.com/india/ladakh-standoff-former-pm-manmohan-singh-says-the-pm-must-be-mindful-of-implications-of-his-words/articleshow/76503023.cms

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here