बिहार के इस जिले में मिल रहा है दो किलो मुर्गे के साथ इतना किलो प्याज free

0
604

कोरोना वायरस के फैलने से सबसे ज्यादा बदनामी किसी की हुई है तो वो है मुर्गे की, क्यूंकि अधिकाँश लोगो ने कोरोना के फैलने का ठीकरा मुर्गे के सिर भी ही फोड़ दिया है. खैर लोगो के इस भ्रम से मुर्गे को तो दो पल की जिंदगी मिल गयी है मगर बिचारे पॉल्ट्री व्यापार वालों के पसीने छूटने लगे है. क्यूंकि कोरोना के फैलते माहौल में कोई भी व्यक्ति मुर्गा खाने को तैयार ही नहीं है. इसीलिए अब बिहार के व्यापारियों ने लोगो को लुभाने के लिए अहम् पहल की है. जिसके तहत बिहार के कैमूर जिले में दो किलो मुर्गे पर एक किलो मुफ्त में प्याज बांटा जा रहा है, ताकि व्यापारियों का धंधा भी ना डूबे और भ्रम भी दूर हो कि मुर्गा और कोरोना वायरस का दूर दूर तक कोई लेना देना नहीं है. जिसके बाद मुर्गा लेने वालों की भीड़ भी बढ़ने लगी है. क्यूंकि लोग मुर्गा खाए ना खाए मुफ्त में मिल रहे प्याज को नहीं छोड़ने वाले है.

अरवल में मुफ्त में बांटा गया मुर्गा

ऐसा ही हाल कुछ ही दिनों पहले बिहार के ही अरवल जिले में देखने को मिला था जहाँ पर मुफ्त में ही व्यवसाइयों ने मुर्गा बांटना शुरू कर दिया था. 120-130 रूपए किलो में मिलने वाले मुर्गे को मुफ्त में ही छत से फेंका जा रहा था. व्यवसायी करे भी तो क्या करे कोरोना वायरस ने किसी ना किसी तरह अपनी चपेट में हर किसी को ले लिया है, किसी को शारीरिक तौर पर तो किसी की जेब को अपनी चपेट में ले लिया है. हालंकि अभी तक किसी भी संगठन ने कोरोना के होने के पीछे मुर्गे की बात की पुष्टि की है.

कोरोना से भारत के 100 से ज्यादा लोग प्रभावित

वहीं एक नज़र अगर कोरोना वायरस की चपेट में आये लोगो की तरफ से तो अब तक भारत में 100 से ज्यादा मामलो की पुष्टि की जा चुकी है. जिसमे से कुछ लोग ठीक होकर घर वापस जा चुके है वहीं कुछ लोग अभी भी ठीक होने की कगार पर है. वहीं इन सब के बीच अब तक बिहार में एक भी कोरोना के पॉजिटिव होने की खबर सामने नहीं आई है. मगर फिर भी बचाव के तौर पर सरकार ने अपनी तरफ से सारी तैयारियां पूरी कर ली है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here