वशिष्ठ नारायण सिंह की अंतिम यात्रा में उमड़ा जन सैलाब, राजकीय सम्मान के साथ होगा अंतिम संस्कार

0
175

महान गणितज्ञ वशिष्ठ नारायण सिंह का गुरुवार की सुबह पटना मेडिकल कॉलेज में निधन हो गया था. वे लंबी बिमारी से जुझ रहे थे. गुरुवार की शाम उनकी शव को पटना से पैतृक गांव बसंतपुर में लाया गया. शुक्रवार को राजकीय सम्मान के साथ गंगा घाट पर उनका अंतिम संस्कार किया जाएगा. बसंतपुर के पैतृक घर से उनका शवयात्रा शुरू हो चुकी है. शव यात्रा में जन सैलाब उमड़ पड़ा है.

उनके निधन पर राष्‍ट्रपति रामनाथ कोविंद, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, राज्‍यपाल फागू चौहान तथा मुख्यमंत्री नीतीश कुमार सहित केंद्र व राज्‍य के अनेक मंत्रियों व नेताओं ने श्रद्धांजलि दी. मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार पटना के उनके घर पर पहुंचकर पार्थिव शरीर पर माल्यार्पण कर श्रद्धांजलि दी.

आपको बता दें कि वशिष्ठ नारायण सिंह 40 सालों से ‘सिजोफ्रेनिया’ बीमारी से पीड़ित थे. गुरुवार की सुबह तबीयत खराब होने पर उन्हें पीएमसीएच ले जाया गया, जहां उनकी मौत हो गई. इसके बाद पीएमसीएच प्रशासन ने उनके शव को स्‍ट्रेचर पर रख अस्‍पताल के बाहर कर दिया. परिजनों को शव को जे लाने के लिए घंटों भटकते रहे. इस बीच जब मीडिया ने मामला उजागर किया तो अस्‍पताल प्रबंधन से लेकर जिला प्रशासन तक नींद से जागे. सरकार भी हरकत में आई. फिर शव को सम्‍मान के साथ उनके पटना स्थित घर पर पहुंचाया गया.

गुरुवार को जब शब पटना से पैतृक गांव पहुंचा तो वहां उनके दर्शन के लिए राजनेताओं के साथ लोगों की भीड़ उमड़ पड़ी थी. वहां पहुंचने वाले नेताओं में मंत्री जय कुमार सिंह व पूर्व मंत्री राघवेंद्र प्रताप सिंह के अलावा जिलाधिकारी रोशन कुशवाहा एवं पुलिस अधीक्षक सुशील कुमार पहुंचे गए थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here