जनरल डिब्बे में यात्रा करने के लिए नहीं करना होगा रिजर्वेशन, जानिए नियम

0
330

रेलवे ने अपने यात्रियों की सुविधा को ध्यान में रखते हुए कई तरह के बदलाव करता रहा है. इसी कड़ी में हमने देखा है कि कोरोना काल के दौरान यात्रियों की सुविधा को और उनकी परेशानी को ध्यान में रखते हुए जनरल कोच में रिजर्वेशन को समाप्त कर दिया है. बता दें कि इससे पहले लंबी दूरी कि यात्रा करने वाली ट्रेनों में यह नियम लागू किया था जिसमें यह बताया गया था कि जनरल कोच में सफर करने के लिए भी आपको रिजर्वेशन करवाना होगा. हालांकि इसी साल फरवरी महीने में यह नियम जारी किया गया जिसमें यह बताया गया था कि कुछ ट्रनों में 120 दिन आगे के लिए एडवांस टिकट बुक किये जा चुके थे. इसलिए उन ट्रेनों में यह फैसला लागू नहीं हो सका था.

rajendranagr durg express

कोरोना काल से ठीक पहले ट्रेनों के जनरल डिब्बों में सामान्य टिकट से लोग यात्रा कर सकते थे. ऐसे में इस प्रक्रिया को एक बार फिर से शूरू कर दिया गया है. आपको बता दें कि जो रेलगाड़ी में यात्रा करते हैं खास कर जनरल डिब्बे में जो लोग यात्रा करते हैं. वे कम दूरी की यात्रा करने वाले होते है या फिर लंबी दूरी की यात्रा करने वाले होते हैं. और इनका फैसला बहुत ही अचानक होता है. आपको बता दें कि स्लिपर क्लास में अगर टिकट नहीं रहता है तो लोग सामान्य टिकट लेकर जनरल कोच में सफर करने लगते हैं. जनरल कोच में इस तरह के लोग भी यात्रा करते हैं जोकि स्लिपर क्लास का किराया नहीं दे सकते हैं. वे लोग जनरल क्लास का टिकट लेते हैं. बिहार में खासकर जनरल कोच में खचाखच भीड़ रहती है.

रेलवे में यात्रा करने के लिए यात्रियों को देना होता है रिजर्वेशन चार्जः- बता दें कि जनरल क्लास में यात्रा करने के लिए यात्रियों को देना होता है 15 रुपया, वहीं स्लीपर क्लास में रिजर्वेशन चार्ज 20 रुपया देना होगा. वहीं थर्ड एसी में 40 रुपया किराया देना होगा. वहीं सेकेंड एसी में 50 रुपया देना होगा तो वहीं फस्ट क्लास में 60 रुपया देना होगा. बता दें कि रेलवे की तरफ से अब जनरल क्लास में रिजर्वेशन बंद होने के बाद यात्रियों को विशेष सुविधा मिलने वाला है. आपको बता दें कि कोरोना काल के दौरान यात्रियों को रिजर्वेशन कराना अनिवार्य कर दिया गया था.

मीडिया में चल रही खबरों की माने तो इसी साल फरवरी महीने में जनरल क्लास में रिजर्वेशन की अनिवार्यता को समाप्त कर दिया था. लेकिन उस समय तक लंबी दूरी की बहुत सी ऐसी ट्रेने थी जिसमें लोगों ने अपना रिजर्वेशन करवा लिया था. ऐसे में रेलवे ने यह घोषणा किया कि 120 दिनों के बाद लोग जनरल कोच में रिजर्वेशन नहीं कर पाएंगे. ऐसे में वह दिन 28 जून को आ गया जब देश में जनरल कोच में रिजर्वेशन की सुविधा को समाप्त कर दिया गया. यानी की इस दिन से भारतीय रेलवे में लोग बिना रिजर्वेशन के यात्रा कर सकते हैं. यानी की इस दिन इन्हें जनरल टिकट लेकर यात्रा करने की आजादी मिलने वाली है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here