40 साल से बिछड़ी इस बुजुर्ग महिला को गूगल ने पहुंचाया अपने घर, विदाई के समय गांव के लोग रोने लगे

0
552

एक कहावत हैं जिसे लोग बार बार कहते हैं अब तो तकनीक का जमाना है. आज यह सिद्ध हो गया है कि वास्तव में यह तकनीक का जमाना है. मध्य प्रदेश के दमोह से यह खबर सामने आई है जो मानवीय़ रिश्ते को बेहद खूबसूरत और भावनात्मक तस्वीर पेश करती है. एक महिला करीब 40 से एक मुस्लिम परिवार के साथ रह रही है. जब यह महिला अपने घऱ जा रही थी तो पूरा गांव उनकी विदाई के समय भावुक होगया था.

यह पूरा मामला दमोह जिले के एक मुस्लिम बाहुल्य कोटतलां गांव का है, जहां करीब 40 साल पहले एक बुजुर्ग महाराष्ट्रीयन महिला अपने पिरावर से बिछड़ कर यहां आ गई थी. तब गांव के रहने वाले नूर खान ने महिला को अपने घऱ में रहने के लिए शरण दिया था. उसके बाद से यह महिला उस मुश्लिम परिवार के साथ एक परिवार की सदस्य की तरह रह रहे हैं.

इस महिला से बार बार उनके घर परिवार केबारे में पुछा जाता था तो वह कुछ साफ साफ नहीं बता पाती थी. जिसके कारण उसे खोजने में दिक्कत परेशानी होती थी. वह महिला तुटी फूटी भाषा में वह महिला खंजामा नगर नाम बताती थी. लेकिन इससे कुछ साफ नहीं हो पाता था. लेकिन साल दर साल बितते गए और इस बार लॉकडाउन आ गया. इस दौरान नूर खान के बेटे इसरार खान ने बुजुर्ग महिला से बातचीत के दौरान फिर से गांव का नाम पूछा तो उसने परसापुर बताया. इसके बाद इसरार ने इस गांव के नाम को गुगल पर सर्च किया तो यह महाराष्ट्र में दिखाया उसके बाद इसरार ने इस गांव के एक दुकानदार का नंबर खोज निकाला और उससे खंजामा नगर के बारे में पुछा तो उसने बता दिया कि यहां इस नाम की जगह है उसके बाद उसके वाट्सअप पर इस महिला का वीडियो भेजा उसके बाद गांव के लोग इस महिला को पहचान गए. फिर इस बुजुर्ग महिला का पोता अपनी पत्नी के साथ अपनी दादी को लेकर चला गया.

40 साल तक इस गांव में रहने के बाद इस बुजुर्ग महिला ने इस गांव को मौसी मान लिया था. इस गांव के लोगों को इस बुगुर्ग महिला से इतना लगाव था कि जब वह अपने पोते के साथ जाने लगी तो गांव कि महिलाएं भावुक हो गई थी. कितनी महिलाओं की आंखों से आंसु निकल रहे थे. जिस नूर खान ने इस महिला को इतने साल तक रखा उस नूर खान के परिवार का रो रो कर बुरा हाल था. लेकिन इस बात की खुशी थी कि आज वह अपने घऱ जा रही है. अपने लोगों के साथ जा रही है. उन्हें अपना परिवार मिल गया है.

स्त्रोतः-https://aajtak.intoday.in/story/madhya-pradesh-old-hindu-woman-living-with-muslim-families-from-last-40-years-return-home-with-google-help-1-1203027.html

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here