देश की नारी शक्ति ‘हिमा दास’ का एक टूर्नामेंट में तीसरा गोल्ड मैडल

0
535

देश को हिमा दास पर गर्व करना चाहिए !

भारत की नारी शक्ति पृथ्वी के हर कोने में डंका बजा रही हैं। जी हां, हम बात कर रहे हैं भारत की शीर्ष महिला धावक हिमा दास की, जो चेक गणराज्य के क्लांदो शहर में चल रहे ‘क्लांदो मेमोरियल एथेलेटिक्स टूर्नामेंट’ में पिछले दो सप्ताह के अंदर लगातार तीसरी बार ‘गोल्ड मैडल’ अपने और देश के नाम किया है। बता दें कि हिमा 200 मीटर स्पर्धा दौड़ में यह स्वर्ण पदक अपने नाम किया है।

भारत की यह शीर्ष धावक ने इसी शनिवार को हुई दौड़ रेस को 23.43 सेकेंड में पूरा कर लिया। जो इस रेस में श्रेष्ठ प्रदर्शन रहा और हिमा पहले पायदान पर रही। वर्ल्ड की इस जूनियर चैम्पियन हीमा का सर्वश्रेष्ठ व्यक्तिगत समय 23.10 सेकेंड है जो उन्होंने पिछले साल बनाया था।

इन सब के बीच नेशनल रिकॉर्ड होल्डर मोहम्मद अनस ने भी 400 मीटर स्पर्धा दौड़ में  स्वर्ण पदक अपने नाम किया। उन्होंने अपनी रेस 45.21 सेकेंड में पूरी कर ली।

गौरतलब है कि गत आठ जुलाई को पोलैंड में आयोजित कुंटो एथेलेटिक्स टूर्नामेंट में 200 मीटर की रेस को 23.97 सेकंड में पूरा कर गोल्ड मेडल जीता।

इससे पहले हिमा दास ने दो जुलाई को पोलैंड में हुई पोजमान एथेलेटिक्स ग्रैंड प्रिक्स में साल की अपनी पहली प्रतिस्पर्धा 200 मीटर रेस में 23.65 सेकेंड में पूरा कर गोल्ड मेडल जीता था।

विडंबना देखिए कि, मिलों दूर एक दूसरे देश मे जा कर अपने देश के लिए पसीना बहाने वाली इस महिला धावक को मीडिया ने तरजीह तक नहीं दी। एक छोटी सी हैडलाइन के साथ खबर बन गयी। बस बात खत्म।

इस महिला चैंपियन के लिए इस खबर को बहुत शेयर करें। ताकि दूसरे खेलों के लिए भी लोगों और मीडिया को जगाया जा सके।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here