इतिहास खुद को दोहरा सकता है, लोजपा कर सकती है 2005 जैसा खेल

लोजपा अध्यक्ष चिराग पासवान के तल्ख तेवर सामान्य होने का नाम ही नहीं ले रहे हैं. सीएम नीतीश कुमार के विरुद्ध उनके बयान लगातार सामने आते ही जा रहे हैं. कयास तो यहां तक लग चुके हैं कि लोजपा जदयू से अलग रास्ता अख्तियार कर सकती है. लोजपा ने तो हरेक विधानसभा सीटों पर अपने उम्मीदवारों का चयन शुरु कर दिया है. ऐसा पहली बार नहीं है जब लोजपा अपने गठबंधन के खिलाफ मैदान में जाने की तैयारी में है.

ऐसा वो 2005 में भी कर चुकी है जब वो केंद्र में यूपीए सरकार में हिस्सेदार थी. डॉ मनमोहन सिंह प्रधानमंत्री थें और रामविलास पासवान उनके मंत्रिपरिषद के सदस्य. सनद रहे कि लालू प्रसाद यादव भी इसी सरकार में रेलमंत्री थें और वर्ष 2004 का लोकसभा चुनाव बिहार में कांग्रेस, राजद और लोजपा ने मिलकर लड़ा था.

File:Manmohan Singh attends Iftar at the residence of the Union ...

राजद के खिलाफ उतरी मैदान में

वर्ष 2005 में जब बिहार विधानसभा का चुनाव हुआ तो लोजपा ने राजद के खिलाफ उम्मीदवार उतारे और कांग्रेस के साथ गठबंधन कर लिया. एक ही गठबंधन में रहते हुए राजद का विरोध किया. लोजपा को 29 और कांग्रेस को 10 सीटें मिली और राजद को 75 सीटों पर जीत मिली. सरकार किसी की नहीं बनी और इसी के बाद से बिहार में राजद के शासन का अंत हो गया और फिर आज तक राजद की सत्ता में वापसी नहीं होग सकी.

Sonia Gandhi, President of AICC and UPA Chairperson Manmohan Singh ...

15 साल दोहराए सकता है इतिहास

कयास लगाए जा रहे हैं कि अगर लोजपा और जदयू में बात नहीं बनती है तो लोजपा सभी जदयू प्रत्याशियों के खिलाफ अपने उम्मीदवार उतार सकती है और भाजपा उम्मीदवारों को अपना समर्थन दे सकती है. अगर ऐसा होता है तो सचमुच बिहार में 15 साल बाद इतिहास खुद को दोहरा सकता है. ऐसी वजह इसलिए भी है क्योंकि जदयू तो लोजपा के अस्तित्व को ही मानने से लगातार इंकार कर रहा है.

जदयू के राष्ट्रीय स्तर के नेता और नीतीश सरकार के मंत्री भी साफ साफ बोल चुके हैं कि हमारा गठबंधन भाजपा से है लोजपा से नहीं. कई जदयू नेताओं ने मीडिया में यह बयान तक दे दिया है कि बिहार में जीतने के लिए अकेले जदयू और भाजपा के ही वोट काफी है. इसके अलावा किसी और दल की कोई जरुरत नहीं है. ऐसे में लोजपा के पास विकल्प बेहद सीमित हो जाते हैं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here