IRCTC अब आपको भेजेगा नेपाल, वेकेशन का है प्लान तो जल्दी करे

0
145

बिहार में इन दिनों बढती गर्मी के बीच बच्चो की छुटियाँ चल रही है, ऐसे में कई अभिभावक टूर एंड ट्रेवल का प्लान बनाते ही है ताकि बच्चो का वेकेशन बर्बाद ना हो और वो गर्मी से राहत लेते हुए नए जगह का अनुभव भी कर सके ऐसे में अगर आप भी उन परिवारों में से है जो कहीं घुमने का प्लान बना रहे है तो आपके लिए एक अच्छी खबर है, इंडियन रेलवे कैटरिंग एंड टूरिज्म कारपोरेशन लिमिटेड ने पहली बार नेपाल के विशेष स्थानों की यात्रा के लिए रॉयल नेपाल टूर पैकेज जारी किया है, हालांकि यह यात्रा 28 मई से शुरू होने वाला है और 4 जून को यह ट्रेन वापस से पटना पहुँच जाएगी, सबसे ख़ास बात यह है कि IRCTC के इस नए पहल के तहत एयर कंडीशन लग्ज़री बस से यह यात्रा होने वाली है. अब सवाल यह है कि इस बस का रूट कौन कौन सा होने वाला है तो हम आपकी जानकारी के लिए आपको बता दे एयर कंडीशन लग्ज़री बस से होने वाली इस यात्रा का शुभ आरम्भ गया से होगी और जहानाबाद पटना हाजीपुर मुज्ज़फरपुर होते हुए ये बस नेपाल पहुंचेगी. संयुक्त महाप्रबंधक राजेश कुमार ने IRCTC के इस पहल की विस्तृत जानकारी साझा की है जिसके तहत ही उन्होंने बताया कि IRCTC की वेबसाइट या फिर विस्कोमान क्षेत्रीय कार्यालय आकर बुकिंग करवाने की सुविधा आम लोगो को दी जाएगी, साथ ही इस यात्रा में नेपाल के आर्थिक जगहों के अलावा प्राकृतिक स्थानों का चयन भी किया गया है, नेपाल के पोखर यानी की सारंगकोट पॉइंट विध्यावासिनी मंदिर, डेबी फाल्स गुप्तेश्वर महादेव गुफा मनोकामना काथ्मान्दो चित्त्वन समेत अन्य और स्थानों की सैर करवाई जाएगी.

आपको बता दे कि नेपाल जाने के लिए यात्रियों के पास अभी फ्लाइट, ट्रेन, बस टैक्सी कार या बाइक की सुविधा आप ले सकते है. हाल ही में मुज्ज़फरपुर में भारत मामला प्रोजेक्ट के तहत मानिकपुर साहेबगंज और अदलबारी मानिकपुर फोरलेन का निर्माण हो रहा है इस प्रोजेक्ट के लिए मुज्ज़फरपुर जिले में 35 गाँव में ज़मीन के अधिग्रहण का काम भी हो रहा है. हालांकि अभी NHAI की तरफ से सिर्फ नौ गांव से ज़मीन अर्जित करने के लिए मंजूरी दे दी गई है. इसके लिए 107 करोड़ रुपया जिला भू अर्जन कार्यालय को उपलब्ध कराया गया है. अभी पारू अंचल के छह और साहेबगंज के तीन गांव में जमीन का अधिग्रहण किया जायेगा. इसके लिए प्रक्रिया भी शुरू कर दी गयी है. इस सड़क के निर्माण से पटना से नेपाल सीमा की दूरी घटकर 200 किमी हो जायेगी.

जिसके बाद अब उम्मीद है कि जो लोग घुमने फिरने के लिहाज़ से नेपाल जाने की सोच रहे है तो आपको किसी और बस या ट्रेन पर आश्रित होने की ज़रुरत नहीं होगी बल्कि अब आप आसानी से IRCTC की तरफ से चलाई जा रही बसों में आप परिचालन कर सकते है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here