इस मैकेनिक ने कर दिखाया कमाल, बताया किसी भी बाइक के एवरेज को बढाने का राज़

0
1939

जैसे ही जुगाड़ का नाम आता है, भारतीयों का नाम सबसे पहले आता है. जुगाड़ का टैलेंट हमारे हर गली में देखा जाता है. एक ऐतिहासिक जुगाड़ कर दिखाया है यूपी के यूपी के कौशांबी जिले के नौजवान युवक विवेक ने. गाँव के लोग उन्हें प्यार से गुदड़ी का लाल कहते है क्यूंकि वो जिस गाँव में रहते है उस गाँव का नाम गुदड़ी है.

विवेक ने एक ऐसी तकनीक खोज निकाली है जिससे किसी भी बाइक के एवरेज को बढाया जा सकता है. विवेक ने बताया कि 12वीं में उन्होंने फिजिक्स में एक फार्मूला पढ़ा था उसी फार्मूला के मदद से उन्होंने  बाइक, जनरेटर समेत अन्य वाहनों का एवरेज बढ़ाने में प्रयोग किया उअर उन्हें सफलता भी मिली. विवेक ने पिपरी, पहाड़पुर गांव के एक मिस्त्री की दूकान पर काम सीखना शुरू किया और करीब दो साल तक इस फोर्मुले पर काम भी किया.

इस कड़ी मेहनत का फल भी उन्हें मिला और जब  जब तकनीक को उत्तर प्रदेश काउंसिंल फॉर साइंस ऐंड टेक्नॉलजी (यूपीसीएसटी) और मोती लाल नेहरू नेशनल इंस्टिट्यूट ऑफ टेक्नॉलजी इलाहाबाद (एमएनएन आईटी) ने जांच के बाद प्रमाणित कर दिया.

विवेक के अनुसार इनकी तकनीक से उस बाइक का एवरेज 150 किलामीटर प्रति लीटर हो जायेगा जो 50-60 का एवरेज देती है. उन्होंने बताया कि, बाइक रिपेयरिंग सीखने के दौरान ही इंजन में बदलाव के टेस्ट भी शुरू किए गए। बाइक रिपेयरिंग सीखने के दौरान ही इंजन में बदलाव करने के तरीके सीख लिए.विवेक के मुताबिक एवरेज बढ़ाने के लिए बाइक में लगा कार्बोरेटर बदलकर वो अपना कार्बोरेटर लगा देते हैं. जिसके निर्माण में मात्र 500 रूपए का खर्च आता है.

विवेक बताए है की अब वो बिना किसी भी खर्च के किसी भी बाइक के एवरेज को बाधा सकते है और अबतक उन्होंने लगभग 200 से ज्यादा बाइक के एवरेज को बाधा दिया है. ये दावा करते है कि कंपनियां जो एवरेज देती है उसमें कार्बोरेटर में प्रति मिनट 10 से 12 ग्राम पेट्रोल, डीजल गिरता है. जिसे वह सेट करके 6 से 8 ग्राम कर देते है, जिससे एवरेज बढ़ जाता है. इससे इंजन पर भी कोई लोड नहीं पड़ता।

  • 1.2K
  •  
  •  
  •  
  •  
    1.2K
    Shares
Loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here